हम चाहे चीन से मिले या पाकिस्तान से, कोई हमपर रोक नहीं लगा सकता : आनंद शर्मा, कांग्रेस



आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज राज्यसभा में थी 
वहां सुषमा स्वराज ने राहुल गाँधी की चीनी राजदूत से गुपचुप मुलाकात पर बयान दिया 

सुषमा स्वराज ने कहा की, राहुल गाँधी को चीन और भारत में चल रहे तनाव के बारे में जानना है तो वो भारत के विदेश मंत्रालय से जानें, वो एक सांसद भी है 
पर वो चीनी  राजदूत से मिलते है, क्या चीनी राजदूत से  वो भारत की स्तिथि पर सही जानकारी लेंगे ? 

सुषमा स्वराज के इस बयान पर कांग्रेस भड़क उठी 
वहां बैठे कांग्रेस भड़क गए, और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने सुषमा स्वराज का विरोध किया 

आनंद शर्मा ने कहा की 
चीन में भी भारतीय राजदूत है, उसी तरह भारत में भी चीनी पाकिस्तानी भूटानी राजदूत है, राहुल गाँधी और कांग्रेस पार्टी जिस से चाहेगी उस से मिलेगी इसपर कोई रोक नहीं लगा सकता 
हम चाहे चीन के राजदूत से मिले या पाकिस्तान के राजदूत से ये हमारा विशेषाधिकार है 

बता दें की भारत में लोकतंत्र है 
यहाँ कोई भी शख्स क़ानूनी तरीके से किसी से भी मुलाकात कर सकता है कोई रोकटोक नहीं है 
पर राहुल गाँधी की चीनी राजदूत से मुलाकात काफी संदिग्ध थी 

पहले हां फिर ना फिर हां 
इस तरह की मुलाकात थी राहुल गाँधी की चीनी राजदूत से, ये एक  गुपचुप मुलाकात थी 
और ऐसे समय में जब भारत और चीन का विवाद शुरू हुआ था, अब इसपर सवाल तो उठेंगे पर जिस तरह कांग्रेस भड़क जाती है, साफ़ हो जाता है की दाल में कुछ काला जरुर है