सेना में भर्ती हुआ कश्मीरी मुस्लिम, हथियार और गुप्त जानकारियां चुराकर बना हिज्बुल आतंकी



इस तरह की घटनाएं बहुत ही गंभीर है 
और ये देश और खासकर ग्राउंड पर काम कर रहे, ड्यूटी कर रहे सैनिको की जान के लिए बहुत बड़ा खतरा है 

ये घटनाएं बहुत ही सामान्य हो चुकी है 
कभी मुस्लिम पुलिसकर्मी हिज्बुल में शामिल हो जाता है  भारतीय थल सेना का मुस्लिम सैनिक आतंकियों से जा मिलता है 


Image result for zuhoor ahmad tokar

ऊपर जिस शख्स की तस्वीर आप देख रहे है इसका नाम है जुहूर अहमद टोकर 
ये कश्मीरी मुस्लिम है जो की सेना में शामिल हुआ था, सेना ने इसे ट्रेनिंग दी, सैनिक बनाया लाखों की सैलरी भी दी 
और मजहब के नाम पर ये सेना और देश को धोखा देकर इस्लामिक आतंकी संगठन हिज्बुल में शामिल हो गया 
अपने साथ ये भारी मात्रा में हथियार और अहम् जानकारियां भी लेकर भागा और 
आतंकियों से जा मिला 

इस से पहले भी ऐसे कई मामले आ चुके है, सिर्फ सेना ही नहीं पुलिसकर्मी भी हथियार चुराकर हिज्बुल में शामिल हुए है, पिछले 3 महीनो में ये अपने में कम से कम तीसरी ऐसी घटना है 

सरकार को भर्तियों में बहुत ध्यान देने की जरुरत है, खासकर कश्मीरी मुस्लिम जो सेना और अन्य सरकारी नौकरियों में आ रहे है, इनपर खास निगरानी की जरुरत है 
ये कभी भी मजहब के नाम पर देश को धोखा दे सकते है, इनके साथ काम कर रहे अन्य सैनिको पर ये हमला कर उनकी जान ले सकते है, क्यूंकि 72 हूरों के लिए ये लोग किसी भी स्तर तक जा सकते है