बड़ी खबर : हिन्दुओ के खिलाफ षड्यंत्र रचने वाला सोनिया गाँधी का सचिव अहमद पटेल चुनाव हारा !


गुजरात से एक बड़ी खबर आयी है, कांग्रेस को जिसका डर था वही हुआ है क्योंकि अहमद पटेल राज्य सभा चुनाव हार चूका है, उसे जरूरत के वोट नहीं मिल पाए, उसे न्हें जीतने के लिए 45 वोट चाहिए थे लेकिन दो कांग्रेस विधायकों ने क्रॉस वोटिंग करके उसकी हार पर मुहर लगा दी.

अभी तक वोटों की मतगणना नहीं शुरू हुई है लेकिन कांग्रेस ने हंगामा शुरू कर दिया है और दोनों क्रॉस वोटों को रद्द करने की मांग की है, कांग्रेस को भी पता चल गया है कि अहमद पटेल चुनाव हार चूका है इसलिए हंगामा शुरू कर दिया है.

कांग्रेस विधायक शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि हमारे दो कांग्रेस विधायकों - भोलाभाई और राघवजी ने खुलेआम बीजेपी को वोट दिया, दोनों के वोट रद्द होने चाहियें उसके बाद ही मतगणना शुरू होगी, दिल्ली में रणदीप सिंह सुरजेवाला और RPN सिंह चुनाव आयोग भी पहुँच गए हैं और दोनों वोटों को रद्द करवाना चाहते हैं जिसका साफ़ साफ़ मतलब है कि अहमद पटेल चुनाव हार चूका है हालाँकि अभी इसकी घोषणा नहीं की गयी है. यह भी खबर आ गयी है कि JDU के एक विधायक ने भी बीजेपी को ही वोट दिया है.

तीनों सीटें जीतने के बाद बीजेपी ने जश्न मनाना शुरू कर दिया है जबकि कांग्रेस के दफ्तर में सन्नाटा पसरा हुआ है. गुजरात में एक तरह से कांग्रेस की बड़ी हार हुई है क्योंकि विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के मुख्य रणनीतिकार फेल हो गए हैं.

बता दें की ये अहमद पटेल वही शख्स है जो कई षड्यंत्रों का मास्टरमाइंड रहा है 

* अमित शाह से लेकर नरेंद्र मोदी को फंसाने और मरवाने के लिए कई षड्यंत्र रचे

* हिन्दुओ को आतंकी घोषित करने के षड्यंत्र के पीछे भी इसी का दिमाग था 

* यहाँ तक की "एंटी कम्युनल वायलेंस बिल" जिसके जरिये हिन्दुओ को भारत में गुलाम बना देना चाहती थी कांग्रेस उसके पीछे भी अहमद पटेल का ही दिमाग था 

* समझौता ब्लास्ट में पाकिस्तानी आतंकी को भागकर असीमानंद को पकड़ना, इस्लामिक आतंकियों को छोड़ कर साध्वी प्रज्ञा, कर्नल पुरोहित को फंसना, इन सबके पीछे अहमद पटेल ही मास्टरमाइंड रहा है 
सोशल मीडिया पर लोगों ने कहना भी शुरू कर दिया है की 
भारत की संसद से अहमद पटेल का हट जाना, इसका सीधा मतलब है की पाकिस्तान की पहुँच अब भारत के संसद के अंदर तक नहीं रही