अब देशद्रोहियों, आतंकियों की खैर नहीं, फिर से सेना में ड्यूटी संभालेंगे कर्नल पुरोहित


हिन्दू आतंकवाद का मुद्दा पैदा करने की साजिश के तहत फंसाए गए कर्नल पुरोहित पूरे 9 साल तक जेल में बंद रहे लेकिन आज उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने जमानत दे दी. जेल से बाहर आकर उन्होंने आतंकवादियों के लिए बुरी खबर सुना दी है. उन्होंने कहा कि अब वे फिर से सेना में जाकर देश की रक्षा करना चाहते हैं. आप समझ सकते हैं कि चोट खाया शेर कितना खतरनाक हो जाता है. अब कर्नल पुरोहित आतंकियों का शिकार करके अपने 9 साल का बदला लेंगे.

जानकारी के लिए बता दें कि जैसे ही कर्नल पुरोहित के कोर्ट से बेल आर्डर आ जाएंगे सेना उनकी पोस्टिंग पर विचार करेगी, कर्नल पुरोहित ने खुद ही ड्यूटी ज्वाइन करने की इक्षा जता दी है, यह भी रिपोर्ट आ रही है कि जब तक मालेगांव मामले का फाइनल निर्णय नहीं आ जाता तबतक उन्हें उनकी सैलरी का केवल 75 फीसद हिस्सा मिलेगा.  

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सोशल मीडिया पर ऐसी खबर चल रही है कि पूर्व कांग्रेस सरकार ने पाकिस्तान और मुस्लिमों को हिन्दू आतंकवाद का मुद्दा देने के लिए कर्नल पुरोहित और साध्वी प्रज्ञा को मालेगांव ब्लास्ट में फंसाकर जेल में डाल दिया और इन्हें आतंकवादी घोषित कर दिया. इसके बाद पाकिस्तान दुनिया में घूम घूम कर कहने लगा कि हिन्दू भी आतंकवादी होते हैं. 

समझौता, ब्लास्ट, मालेगांव ब्लास्ट हिन्दुओं ने किया है जबकि इसका कोई सबूत नहीं है. कांग्रेस पार्टी भी हिन्दू आतंकवाद का नारा देकर मुस्लिमों को खुश करना चाहती थी इसलिए कांग्रेसी नेताओं ने भी हिन्दू आतंकवाद का मुद्दा जोर शोर से उठाया लेकिन अब साध्वी प्रज्ञा को भी जमानत मिल गयी है और कर्नल पुरोहित को भी जमानत मिल गयी है.

Loading...


Loading...