नगर निगम की बैठक में सोहेल, मतीन व ज़फर ने किया वन्देमातरम का अपमान, भड़की शिवसेना ने दिया लात !


उन्हें पता है की समाज में जहर कैसे फैलाना है . उन्हें ये भी पता है की किसी की भावनाओं को कैसे छेड़ना है और किस कार्य से राष्ट्र और धर्म की वो कर सकते हैं अधिकतम हानि .. उनका मुखिया ही समाज को वो जहरीली दिशा में ले जाना चाहता है जिस पर चल कर देश की अखंडता यकीनन खतरे में पड़ सकती है . 

उसका साथ दिया है उस पार्टी ने जो कश्मीर में पत्थर की बौझार करने वाले हत्यारों को मासूम मानती है और सेना के हर शौर्य पर शक करती है . उसके बाद जो दिखा वो एक घृणित इतिहास बना गया यद्द्पि इस धृष्टता से कुछ लोगों ने लड़ कर अपना नाम अन्याय और अत्याचार के खिलाफ लड़ने वालों में लिखवा लिया ..

ज्ञात हो की महाराष्ट्र के शम्भाजी नगर अर्थात औरंगाबाद नगर निगम की बैठक में भारत का आन मान शान का प्रतीक और कभी क्रांतिकारियों की जुबान पर रहा राष्ट्रगीत वंदेमातरम अचानक ही एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया . इस राष्ट्रगीत की गरिमा के खिलाफ उसी सभा के तीन मुसलमान सभासद सवाल उठाने लगे जिसके बाद एक जबरदस्त बवाल देखने को मिला जो लात घूंसे तक पहुंचने तक आ गया . 

असल में इस बैठक के दौरान वंदेमातरम के समय पत्थरबाजों पर रहम की बात करने वाली कांग्रेस और आतंकियों की पैरवी करने वाली एआईएमआईएम के दो मुसलमान पार्षद खड़े नहीं हुए इसमें एक का नाम था सोहैल शेख और दूसरे का नाम था सैयद मतीन .

ये धृष्टता भाजपा और शिवसेना के नेताओं को सहन नहीं हुई और इन नेताओं ने इस कुकृत्य का विरोध किया तब इन दोनों मुस्लिम नेताओं ने मामले को हाथापाई तक पंहुचा दिया . हाथापाई के ही दौरान एक तीसरा मुस्लिम नेता ज़फर अचानक ही आतंकी रूप में आ गया और सभागार में ही तोड़फोड़ मचाना शुरू कर दिया .. 

ध्यान देने योग्य है की औरंगाबाद महानगरपालिका की शनिवार को सर्वसाधारण सभा थी। इस सभा के दौरान वंदे मातरम का अपमान करने वाले कांग्रेस सभासद सोहैल शेख और एमआईएम के सैयद मतीन को शिवसेना और भाजपा के सभासदों ने मेयर के सामने जाकर निलंबित करने की मांग की। अचानक ही उसी सभा में - " यदि भारत में रहना है, तो वंदे मातरम कहना है," के नारे भी शिवसेना-भाजपा की तरफ से लगाए गए ।

 इस हंगामे के बाद मेयर ने दो सभासदों को एक दिन के लिए निलंबित कर दिया और शेख जफर के विरुद्ध पुलिस को आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया।
loading...
Loading...



Loading...