हलाला, मुताह निकाह जान लिया, अब जानिये "मिस्यार निकाह", पैसा दो सम्बन्ध बनाओ और जाओ !



2016 से पहले हलाला भी आपको कहा पता था 
मुताह निकाह तो आज भी बहुतों को नहीं पता, चलिए मुताह और हलाला, तीन तलाक इत्यादि तो आपने जान लिया 

अब एक और चीज जानिये इसे कहते है "मिस्यार निकाह" अंग्रेजी में "MISYAR NIKAAH"

मुख्य तौर पर मिस्यार निकाह सऊदी अरब में प्रचिलित है 
वहां बड़े पैमाने पर मिस्यार होती है, सऊदी के अलावा पाकिस्तान बांग्लादेश भारत और तमाम मुस्लिम देशों में मिस्यार निकाह होता है, इसे सबसे छुपाया जाता है, कोई भी मिस्यार के बारे में दूसरे लोगों को जानने नहीं देता क्यूंकि "पैसा दो संबंध बनाओ" का कांसेप्ट है 

कई बार आपकी पहली बीवी होती है, उसे नहीं बताना है 
और आपको सेक्स भी करना है, वैश्यावृत्ति तो इस्लाम में हराम है, तो अब क्या करें 

तो इसका सलूशन है "मिस्यार निकाह" 
ये मुताह की तरह ही एक टेम्परोरी निकाह होता है, नार्मल निकाह की तरह ही चीजें की जाती है पर गुप्त तरीके से 

उसके बाद आप मिलो सम्बन्ध बनाओ, और अपने घर जाओ 
निकाह में जो बेगम होती है उसे शोहर के घर जाने की जरुरत नहीं, वो किसी भी गुप्त स्थान पर मिले और सम्बन्ध बनाये 

मिस्यार निकाह आप कितने भी कर सकते हो 
सिर्फ पुरुष ही नहीं, महिलाएं भी, जो महिलाएं जिनके पास माल है, पैसा है वो पुरुष को HIRE कर सकती है 
हफ्ते में 2-3 बार मिले, या जब मन मिलो सम्बन्ध बनाओ और अपने अपने घर 



मिस्यार निकाह मुख्यतः मौज मस्ती का कांसेप्ट है, और ये सबसे अधिक सऊदी अरब में चल रहा है 
जहाँ पर पुरुष और महिलाएं भी 
पैसा दे देकर मिस्यार निकाह करती है और मौज किया जाता है 

मौलवी, काजी, मौलाना मिस्यार निकाह करवाते है, और मोटा कमीशन बनाते है 
ये एक तरह से व्यापार भी है 

मुताह निकाह शियाओं में होता है, तो सुन्नियों ने भी अपने लिए मिस्यार को बनाया है 
पर इसके बारे में किसी को बताया नहीं जाता, गुप्त रखा जाता है