आज़ादी में सिर्फ नेहरू गाँधी का योगदान था, लाखों क्रन्तिकारी क़त्ल किये गए उनका नहीं ? : रोहित सरदाना



आज भारत छोड़ो आंदोलन की 75वी वर्षी थी 
आज के दिन कांग्रेस और उसके नेताओं ने फिर संसद में कहा की आज़ादी हमने दिलाई, बाकि किसी का कोई योगदान नहीं, गाँधी और नेहरू ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी, कांग्रेस ने भारत को आज़ादी दिलाई और भारत को एक राष्ट्र बनाया 

सोनिया गाँधी से लेकर कांग्रेस के अन्य नेताओं ने संसद में ये बात कही 
कांग्रेस ने नेता सोशल मीडिया पर भी यही बात करते हुए नजर आये, सोनिया गाँधी ने भी कहा की कांग्रेस के कारण, उनके परिवार के कारण भारत को आज़ादी मिल सकी 

आज अपने स्पेशल कार्यक्रम में पत्रकार रोहित सरदाना ने भी इसी पर आपत्ति दर्ज कराई 
कांग्रेस प्रवक्ता से रोहित सरदाना ने पूछा की, भारत को आज़ादी दिलाने में क्या सिर्फ गाँधी और नेहरू परिवार का हाथ है, कांग्रेस का हाथ है 

उन लाखों क्रांतिकारियों ने जिन्होंने कांग्रेस का पर्चा नहीं कटवाया, कांग्रेस की सदस्यता नहीं ली 
जिन्होंने अपनी जानें खोयी उनका आज़ादी की लड़ाई में कोई योगदान नहीं है 
जो कांग्रेस के लोग है उनका ही योगदान है, अन्य लोगों का योगदान नहीं 

सिर्फ नेहरू गाँधी और उनके परिवार का योगदान है, सुभाष चंद्र बोस और उनके जैसे अन्य महापुरुषों का कोई योगदान नहीं 

बता दें की भारत की आज़ादी की लड़ाई तो गाँधी के जन्म से भी पहले शुरू हो गयी थी 
1857 में आज़ादी के लिए लाखों भारतियों ने जानें दी, जलियांवाला बाग हत्याकांड जैसे न जाने कितने दृश्य भारत ने देखे, 1857 से 1947 तक 7 लाख 80 हज़ार भारतीयों का क़त्ल किया गया 

पर कांग्रेस के मुताबिक आज़ादी केवल कांग्रेस और गाँधी नेहरू ने ही दिलाई