विदेशी सोनिया गाँधी "भारत छोड़ो आंदोलन" पर भाषण दे रही है, इस से अधिक शर्मनाक क्या होगा : नरसिम्हा राव



बता दें की आज ही के दिन भारतीयों ने 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुवात की थी 
पहले आम भारतीयों ने इस आंदोलन की शुरुवात की बाद में मोहनदास गाँधी ने आंदोलन को हाईजैक कर लिया 

पहले ये आंदोलन सफल होता दिख रहा था, पर जैसे ही मोहनदास गाँधी इस आंदोलन में शामिल हुआ 
भारत छोड़ो आंदोलन फ्लॉप हो गया था 
कहा तो ये भी जाता है की जानबूझकर अंग्रेजों ने ही मोहनदास गाँधी को इस आंदोलन को हाईजैक करने को कहा और मदद भी की, ताकि आम भारतीयों के आंदोलन को बर्बाद किया जा सके 

आज भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ है 
और आज कांग्रेस की तरफ से सोनिया गाँधी संसद में देश को भारत छोड़ो आंदोलन के ऊपर भाषण दे रही थी 
सोनिया गाँधी कह रही थी की हमने अंग्रेजों से भारत को आज़ादी दिलाई 

इसपर बीजेपी नेता GVL नरसिम्हा राव ने बड़ा ही तर्कपूर्ण मुद्दा उठाया 
नरसिम्हा राव ने कहा की इस से अधिक शर्मनाक चीज क्या होगी की कांग्रेस की तरफ से एक विदेशी महिला, जिसका कोई योगदान भारत की आज़ादी में नहीं है 
वो भारत छोड़ो आंदोलन पर भाषण दे रही है 

भारतीयों ने भारत छोड़ो आंदोलन विदेशियों को भगाने के लिए शुरू किया था 
और एक विदेशी हमारी संसद में आज भारत छोड़ो आंदोलन पर भाषण दे रही है और कह रही है की 
आज़ादी उन्होंने दिलाई