यही है सेकुलरिज्म : क्या आपको किसी खान ने जन्माष्टमी की बधाई दी, आप हैप्पी ईद करते रहिये !!!



सुबह से शाम हो गयी हम इंतज़ार करते रहे 
हमने सोचा अब ट्वीट आएगा, अब आएगा, अब आएगा, फसबूक पर  ही आ जायेगा पर नहीं 

सलमान खान, शाहरुख़ खान, आमिर खान 
बहुत सारे सेक्युलर हिन्दू इन लोगों के फैन है, ये लोग भी अपने आप को बहुत सेक्युलर बताते है 
सलमान खान हो, शाहरुख़ खान हो, आमिर खान हो और जितने भी ऐसे तत्व है 
बड़ी बड़ी बातें करते है, खुद को सेक्युलर बताते है 

जन्माष्टमी कोई छोटा त्यौहार नहीं है 
इन सभी खानों के करोडो हिन्दू फैन है, पर नहीं इनके मुँह से झूठ मुठ की भी जन्माष्टमी की बधाई नहीं निकली 
यही है सेकुलरिज्म

इस देश में सेकुलरिज्म का यही हाल है, ये एकतरफा चलने वाली प्रणाली है 
आप हैप्पी ईद, हैप्पी बकरीद करते रहे 

पर आपको न जन्माष्टमी पर बधाई मिलेगी, न राम नवमी पर, न शिवरात्रि पर, न नवरात्री पर 
और न हनुमान जयंती पर, पर आप नबी दिवस की भी बधाई देते रहे एक दूसरे को, यही है सेकुलरिज्म