हामिद अंसारी कृपया ध्यान दें, ममता शासित बंगाल में डर रहा है भारत क्रिकेट का ये मुस्लिम क्रिकेटर !


हामिद अंसारी ने भले ही अपने उपराष्ट्रपति पद के अंतिम समय में एक बेहद जहरीला बयान दे कर सनसनी मचा दी हो पर उन्हें कम से कम अपने पद से हटने के बाद डरे सहमे लोगों के डर को भगाने के लिए कार्य भी करना था , वैसे उन्हें ऐसा करने का सुअवसर मिल भी रहा है जब उनकी ही विचारधारा से कुछ मिलती जुलती ममता बनर्जी के शासित प्रदेश से एक बड़े नाम ने अपनी रक्षा की गुहार लगाई है ..

ये बात हो रही है भारतीय क्रिकेट एक एक बड़े मुस्लिम नाम मोहम्मद शमी की जो भारत के एक धाकड़ गेंदबाज़ माने जाते हैं . उनका मूल निवास है भारत की सबसे बड़ी धर्मनिरपेक्षता की झंडाबरदार ममता बनर्जी जी के शासित प्रदेश पछिम बंगाल में .. 

श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन कर के घर वापस आने के बाद उन्हें ना सिर्फ अपनी अपितु अपने पूरे परिवार की चिंता सताये जा रही है उस प्रदेश में जिसके लिए ममता और उनके सभी धर्म निरपेक्ष घटक कहते हैं की वहां सब कुछ सही चल रहा है ..

मोहम्मद शमी का मूल निवास पश्चिम बंगाल के पोद्दारनगर इलाके में है। उनका कहना है की जब वो कभी बंगाल के बाहर रहते हैं तो वो बेहद सुरक्षित महसूस करते हैं पर जैसे ही वो वापस बंगाल आ जाते हैं उन्हें अपनी और अपने पूरे परिवार की चिंता सताने लगती है ... उनके ही घर के आस पास रहने वाले कुछ लोग उन्हें गाइयाँ देते हैं और मारने की धमकी भी देते हैं . कुल मिला कर उनके लिए वो हालत भयावह होते हैं .. 

उनको धमकी देने के लिए कार की पार्किंग तक को बहाना बना लिया जाता है .. मोहम्मद शमी अभी हाल ही में अपने सोशल मीडिया के कुछ पोस्ट या ट्वीट आदि के चलते कट्टरपंथियों द्वारा ट्रोल भी किये गए थे .. उन्होंने कहा की स्थानीय प्रशासन का रवैया बिलकुल ऐसा नहीं है जिस से उन्हें और उनके परिवार वालों को सुकून मिले।

मोहम्मद शमी ने ये भी कहा की कोई ये समझे की वो वहाँ से भाग जायेगे या किसी के डराने में आ जायेगे तो ये उसकी गलतफहमी है .. वो वहीँ रहेंगे और हर स्थिति का डट कर सामना करेंगे .. ऐसी घटनाये ममता बनर्जी के शासन में ध्वस्त कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है .. साथ ही देश की कानून व्यवस्था पर अंतिम समय में ऊँगली उठा आकर चले गए हामिद अंसारी भी इस मुद्दे पर खामोश हैं .

Loading...


Loading...