अपना त्यौहार मनाना पड़ा हिन्दू लड़के को भारी, कट्टरपंथियों से मांगनी पड़ी लिखित में माफ़ी !



सच कहने और सच लिखने से हमे सांप्रदायिक बता दिया जाता है 
पर हम कड़वी बातें लिखते रहेंगे, 100 हिन्दुओ के बीच 1 मुस्लिम परिवार आराम से रह सकता है, पर 100 मुस्लिमो के बीच हिन्दू परिवार ? 

आपको एक ट्वीट दिखाते है 
ये है पाकिस्तान के सिंध की स्तिथि, जहाँ पर हिन्दू अल्पसंख्यक है, एक हिन्दू लड़के जिसका नाम है दीपक उसने होली का त्यौहार मनाया तो उसे लिखित माफ़ी मांगनी पड़ी 
और कहना पड़ा की उसने बड़ी गलती कर दी है उसे माफ़ कर दिया जाये, आगे से वो ऐसी गलती नहीं करेगा 


कट्टरपंथियों ने उसे ऐसी धमकियाँ दी की उसे लिखित में माफ़ी मांगनी पड़ी और उसका जुर्म था 
होली का त्यौहार मनाना 


अल्पसंख्यक हिन्दुओ की स्तिथि तो देखिये 
वो अपना त्यौहार भी नहीं मना सकते, और भारत में हिन्दुओ को ही असहिष्णु बता दिया जाता है 
जबकि भारत में तो मुस्लिम हर चीज के लिए स्वतंत्र है, यहाँ तक की हज  सब्सिडी भी प्राप्त करते है 

असली असहिष्णु कौन लोग है ये ऊपर हिन्दू लड़की की होली मनाने पर माफ़ी उसका एक छोटा सा उदाहरण है