पाक-सऊदी-बांग्लादेश के जरिये पहुँचते रहे रुपए, सोनिया-मनमोहन ने चलने दिया सारा कारोबार !


NIA ने हुर्रियत के बारे मे बहुत बड़ा खुलासा किया कि देशभक्तो की आंखे फट जाएंगी

रिपोर्ट :- हुर्रियत एक कंपनी है जिसका मालिक पाक है और जीलानी, मीर वाइज ,यासीन मलिक इस कम्पनी के मैनेजर हैं जो कि कमीशन पर काम करते है।

पाक से फंडिंग:-पाक से धन पहले सऊदी जाता है और वहां से या तो श्रीलंका या बांग्लादेश।फिर इन 2 देशों से हवाला से पैसा दिल्ली,हरयाणा और हिमाचल के देशद्रोही व्यापारिओं को मिलता है जो उस धन को हुर्रियत तक पहुंचा देते है।

मैनेजर्स का काम :- लोकल और पाक आंतकवादियो को ये कम्पनी काम Allocate करती है कि किस आंतकी को किस जिले या एरिया मे आंतकी काम करना है। आंतकियो को महीने की पगार हुर्रियत आफिस से ही जाती है। पत्थरबाजी के लिए एजेंट्स को यहीं से धन भेजा जाता है।

कमीशन के तौर पर इन 3 अलगाववादियों और इनके सहयोगियों ने करोड़ो कमाया।
ये धंधा वर्षो से चल रहा है। पिछली सरकार ने कुछ नही किया, यहाँ तक की सभी एजेंसियों के हाथों को बांधकर सोनिया-मनमोहन ने अलगाववादियों को पूरी छूट दी, अलगाववादियों को प्रधानमंत्री के कार्यालय में घुसाया, घर में डिनर कराया 

अब नरेंद्र मोदी की सरकार आयी, तब जाकर कुछ कार्यवाही हुई और ये तमाम जानकारियां निकलकर सामने आ रही है, पिछली सरकार  पाकिस्तान के साथ मिलकर कर रही थी देश को बर्बाद