मुगलों को किताबों से बाहर करने पर भड़की कांग्रेस, मुगलों को बताया अमर इतिहास का हिस्सा !



कांग्रेस और उसके नेता मुगलों के प्रति कितना सम्मान रखते है ये पूरी दुनिया जानती है 
आज़ादी के बाद दिल्ली में कांग्रेस ने ही मुगलों ने नाम पर नई दिल्ली इलाके में सड़कों के नाम रखे 

मुगलों के मजारों पर कांग्रेस के नेता जाते रहे है 
जिसमे से 1 इंदिरा गाँधी भी रही है, खैर 

हाल ही में महाराष्ट्र सरकार के शिक्षा विभाग ने कक्षा 7वी और 9वी की इतिहास की किताबों में बड़ा बदलाव किया, सरकार ने मुगलों की महानता बताने वाले किस्से हटा दिए 
अब बच्चों को शिवाजी महाराज से जुड़े इतिहास का पूरा ज्ञान देने का निर्णय किया गया 

अब इसपर कांग्रेस भड़क गयी 
और कोंग्रेसी नेता शशि थरूर ने इसपर सवाल खड़े कर दिए, शशि थरूर ने महाराष्ट्र सरकार के फैसले का विरोध करते हुए कहा की, मुगलों को आप किताबों से हटा सकते हो 
पर उनको इतिहास से आप नहीं हटा सकते, उनका इतिहास अमर है, और वो हमेशा हमेशा रहेगा 

इस से पहले भी कांग्रेस ने राजस्थान की वसुंधरा सरकार का भी विरोध किया था 
राजस्थान सरकार ने भी मुगलों की महानता के फर्जी किस्सों को किताबों से हटाया था, और महाराणा प्रताप इत्यादि के असली इतिहास को किताबों में डाला था 
साथ ही साथ मुगलों को बाहरी आक्रमणकारी आतंकवादी भी बताया गया था, कांग्रेस ने उस समय भी विरोध किया था 

अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश में जब योगी सरकार ने मुगलसराय स्टेशन का नाम बदला 
तब भी कांग्रेस ने इस फैसले का विरोध किया, साफ़ होता है की कांग्रेस का मुगलों से पुराना सम्बन्ध है