चीनी सीमा तक जल्द पहुँचने के लिए भारत बना रहा टनल, चीनी सीमा अब भारतीय सेना की रीच में !



चीनी सीमा तक दूरी घटाने के लिए सुरंगें बना रहा है बीआरओ...!!!
विपक्ष का कहना है की नरेंद्र मोदी कोई काम नहीं करते, तो फिर ये टनल कौन बना रहा है, जो किसी सरकार ने आजतक नहीं किया वो मोदी सरकार कर रही है !

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) अरुणाचल प्रदेश में 4170 मीटर ऊंचे सेला दर्रा से गुजरने वाली दो सुरंगों का निर्माण कर रहा है, जिससे तवांग से होकर चीन की सीमा तक की दूरी 10 किलोमीटर तक कम हो जाएगी। 

बीआरओ की एक विज्ञप्ति में कहा गया कि 'इन सुरंगों से तेजपुर में सेना के 4 कॉर्प के मुख्यालय और तवांग के बीच यात्रा के समय में कम से कम एक घंटे की कमी आएगी। 

इससे बड़ी बात यह है कि इन सुरंगों से यह सुनिश्चित होगा कि एनएच 13 और खासतौर से बोमडिला व तवांग के बीच 171 किलोमीटर लंबे रास्ते में हर मौसम में आवागमन हो सके।' 


बताया जा रहा है कि भारी हिमपात के समय जब सड़क सपर्क टूटेगा तो ये सुरंगें भारतीय सेना के लिए वरदान साबित होंगी।
सुरंगों का निर्माण पूर्वी हिमालय में राज्य के दुर्गम स्थलों से गुजरते हुए तिब्बत के अग्रिम इलाकों तक जल्द पहुंचने की भारत की कवायद का हिस्सा है।

मोदी सरकार जानती है की चीन भविष्य में संकट खड़ी कर सकता है 
और सरकार उसी की तैयारी कर रही है, पर विपक्ष का कहना है की नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार कुछ नहीं कर रहे