अनीता के लिए सलीम ने अपना रोज़ा नहीं तोडा, पर सलीम के लिए अनीता ने नवरात्री का व्रत तोड़ दिया !


हिन्दू समाज में ये कमी है की वो अपने बच्चों को मॉडर्न तो बनाना चाहता है, पर संस्कार नहीं सिखाना चाहता 
आपको एक उदाहरण हम नीचे दे रहे है, देखिये क्या चल रहा है आज समाज में 

अनीता : आज मेरा बर्थडे है, थोडा से केक खालो
ना जानू , प्लीज ।
सलीम : सोरी ,मेरा रोजा चल रहा नही खा सकता ।

अनीता: मेरे से भी बढकर धर्म है? ?
सलीम : जानू, मेरे लिए धर्म से बढकर कुछ नही । धर्म का पालन हर हाल मे करूंगा ।
अनीता : कोई बात नही, नेक्स्ट टाईम खा लेना ।

कुछ दिन बाद ...

सलीम : डार्लिंग कहा हो, कब से होटल मेतुम्हारा इंतजार कर रहा हू । आज मेरा बर्थडे है, पार्टी करेंगे ।
अनीता : मेरा नवरात्रि का व्रत चल रहा है ।

सलीम : बर्थडे साल मे एक बार आता रोज नही, हमारे प्यार मे धर्म कहा से आ गया? तुम को पार्टी मे आना पडेगा ।
अनीता : नाराज मत हो मेरे जानू मेरे बाबू , आती हू । व्रत कल से कर लूँगी ।

और होता क्या है की ये अनिताएं सलिमों के घरों में पहुँच जाती है पर अनीता नहीं आयेशा बनकर, फिर घरों में गौमांस पका रही होती है 
और कई तो केस ऐसे आ गए जहाँ ये ISIS में भी भेजी जा रही है, कई तो अफगानिस्तान में भी लगा दी गयी, मानव बम बना दी गयी 

हिन्दू समाज अपनी बच्चियों को संस्कार नहीं दे रहा और उसी का ये परिणाम है की 
हिन्दू युवतियां लव जिहाद की सबसे आसान शिकार है 
loading...
Loading...



Loading...