जब देश में अकाल पड़ा था तब इस कांग्रेस ने राहुल गाँधी का जन्मदिवस प्लेन में मनाया था !


हे परम दोगले कांग्रेसियों .....परम दोगले इसलिए कह रहा हूँ क्यों की तुम लोगों ने दोगलेपन के लिए घोषित की गयी सभी सीमा रेखाओं को लांघ दिया है 

* देश का विभाजन किया तुम लोगों ने और देश को बाटने का आरोप आरएसएस पर लगाते हो ???.........

* सिक्किम और अरुणांचल का एक बड़ा भाग तुम्हारी सरकार रहते चीन में चला गया और कारगिल का इल्जाम भाजपा और आरएसएस पर लगाते हो ??...

* इमरजेंसी लागू कर देश में आपातकाल थोपा तुम लोगों ने ..लोगों ..प्रेस अखबार की आजादी छिनी और अभिव्यक्ति की आजादी का गला घोटने का इलजाम बीजेपी पर लगाते हो ??....

* 71 की लड़ाई में जीती जमीन वापस पाकिस्तान को दे दी ....और कमजोर विदेश निति बीजेपी की है ???..

* 1984 में 4000 सिखों को काट के फेक दिया तुम लोगों ने लेकिन तुम्हे तो सिर्फ गुजरात 2002 याद रहता है 

* 50000 लोग मारे गए भोपाल गैस काण्ड में लेकिन तुम आज गोरखपुर काण्ड पे हल्ला मचा रहे हो???

* एक मंत्री की बेटी के बदले 5 आतंकियों को छोड़ दिया ....लेकिन 200 विमान यात्रियों के बदले 3 आतंकी छोड़ने को तुम देश द्रोह बताते हो .....

* बोफोर्स में दलाली तुमने खायी ....तुम्हारे राज में नेवी वार रूम लीक मामला आया ....अरबों खरबों के घोटाले से लेकर हेलीकाप्टर और जीप घोटाले तक तुम्हारे शाशन में हुवे .....लेकिन तुम अभी तक सिर्फ प्रधान मंत्री के सूट और विदेश यात्राओं पर हुवे खर्च का हिसाब मागते हो........दोगलेपन में तुम्हारा कोई सानी नहीं है ......

* याद करो वो समय जब देश में अकाल पड़ा था और तुम राहुल बाबा का जन्मदिन हवाई जहाज में मानते थे वो भी तब जब देश के किसान ने कभी हवाई जहाज़ देखा भी नहीं था ..

* याद करो वो दिन जब तुम्हारे नेहरु और इंद्रा के सूट और साडीयाँ लन्दन और पेरिस धुलने जाती थी वो भी तब जब देश की जनता के शरीर पर एक कपडा भी नहीं हुवा करता था .....क्या क्या याद कराऊँ तुम्हे ??तुम्हारे पाप की फेहरिस्त ही इतनी लम्बी है.........

* आज देश में जो भी समस्या है वो तुम्हारे द्वारा पैदा की गयी है ....चाहे कश्मीर हो या असम हो या बंगाल हो या तमिलों का मुद्दा हो या बांग्लादेशियों का मुद्दा हो या पाकिस्तानी घुसपैठियों का मुद्दा हो या फिर महंगी शिक्षा ..गरीबी भुखमरी बिमारी महामारी घटिया सडकें लचर और महंगी स्वास्थ्य सुविधाएं .....सब तुम्हारी देंन है 

.....और तुम्हारे पास कोई नैतिक अधिकार नहीं है की तुम इन मुद्दों पर मोदी सरकार को कोसो ......

* 60 साल तुमने इस देश पर राज किया है अगर उपलब्धियों पर तुम अपना अधिकार जताते हो तो नाकामियों को भी स्वीकार करो ..घटिया विदेश निति को भी स्वीकार करो ..अपने कमजोर और विदेशी मंद बुद्धि नेतृत्व को भी स्वीकार करो ....स्वीकार करो की तुमने देश में 60 सालों तक मुस्लिम तुष्टिकरण निति को जिन्दा रखा है 

* तुम्हारी वजह से आज कट्टरपंथी वन्दे मातरम का विरोध करता है ..और खुल के गो हत्या का समर्थन करता है ......अगर आज हिन्दुवों में आक्रमकता बढ़ी है तो तुम्हारी वजह से ..असहिष्णुता देश में बढ़ी है तुम्हारी वजह से ...तुम्हारे राज में 70 हज़ार किसानो ने अकेले महारष्ट्र के विदर्भ में ही आत्महत्या कर ली तो तुम किस मुह से किसानो के हित की बात करते हो ??....

लेकिन तुम्हे इन बातों से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला और तुम इस पर भी थेथरई बतियाओगे ..इसलिए मैंने तुम्हे परम दोगला कहा है ......और तुम इसी के लायक हो #@@#%%#