गंगा जमुनी तहजीब की बात करने वाले मौलानाओं ने दोगलेपन की हद मचा दी है : रजत शर्मा



मुल्ला मौलवियों के दोगलेपन का एक और उदाहरण सामने आया है 
बता दें की पिछले दिनों मध्य प्रदेश के उज्जैन में ॐ नमः शिवाय यात्रा का आयोजन किया गया, जहाँ पर स्थानीय मुस्लिम महिला नेता नूरी खान को भी आमंत्रित किया गया 

नूरी खान भी इस यात्रा में शामिल हुई, आप तस्वीर भी नीचे देख सकते है 

Image result for noori khan ujjain

अब मुल्ला मौलवी इसी पर भड़क गए, और कुछ मौलानाओं ने तो नूरी खान को इस्लाम से ही बाहर कर दिया और कहा की नूरी खान को फिर इस्लाम अपनाना होगा अब वो मुसलमान नहीं रह गयी 

बता दें की नूरी खान ने बस इतना कहा था की वो सभी धर्मो का सम्मान करती है 
और इसी पर मुल्ला मौलवी भड़क गए, उन्होंने फिर साबित कर दिया की इस्लाम में सेकुलरिज्म हराम है, मुसलमान अन्य धर्मो का सम्मान नहीं कर सकते क्यूंकि अन्य धर्म इस्लाम में हराम है 

इस से पहले पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम को भी तमिलनाडु के मुस्लिम संगठन ने काफिर बताया था क्यूंकि वो सभी धर्मो  को सम्मान देते थे, और इसी कारण वो मुसलमान नहीं रह गए 
क्यूंकि मुसलमान इस्लाम के अलावा किसी धर्म को सम्मान नहीं दे सकता 

आज अपने कार्यक्रम में इंडिया टीवी के संपादक रजत शर्मा ने भी इस घटना का जिक्र किया 
रजत शर्मा ने कहा की नूरी खान तो सिर्फ मानवता की बात कर रही थी, पर मौलानाओं ने उनको इस्लाम से बाहर कर दिया 

रजत शर्मा ने कहा की मैंने अक्सर इन्ही मौलानाओ को कैमरे पर गंगा जमुनी तहजीब की बात  करते हुए देखा है, पर  जब कोई मुस्लिम सर्वधर्म की बात करता है तो ये मौलाना उसे इस्लाम से बाहर कर रहे है 
झूठ और दोगलेपन की ये तो हद है