समय की मांग है की जाति के आधार पर आरक्षण अब ख़त्म कर देना चाहिए : डॉ सुभाष चंद्रा



राज्यसभा सांसद डॉ सुभाष चंद्रा ने मांग करि है की अब भारत से जातिगत आरक्षण को समाप्त कर दिया जाये 
बता दें की आज भारत छोड़ो आंदोलन की 75वी वर्षगांठ है 

डॉ सुभाष चंद्रा ने कहा की देश भर में जातिगत आरक्षण के कारण सामाजिक तनाव बढ़ रहा है 
आये दिन आरक्षण को लेकर आंदोलन हो रहे है, और देश में तनाव फ़ैल रहा है, इस से समाज के अंदर भी दुरी आती है 

डॉ सुभाष चंद्रा ने मांग करते हुए कहा की एक बार राजनीती से ऊपर उठकर देश के भले के लिए चिंतन करे 
आरक्षण जातिगत नहीं बल्कि आर्थिक आधार पर हो तो अधिक बेहतर 
क्यूंकि उस से सीधा लाभ जरूरतमंद को ही मिलेगा 

डॉ सुभाष चंद्रा ने ये भी कहा की हमे  कठोर निर्णय लेना ही होगा क्यूंकि जातिगत आरक्षण से देश का भला नहीं बल्कि बुरा ही हो रहा है, समाज में आक्रोश बढ़ रहा है 

बता दें की आये दिन कोई न कोई आरक्षण को लेकर आंदोलन करता रहता है 
कभी गुर्जर, कभी जाट तो कभी मराठा, कुछ इलाकों में तो ब्राह्मण  आरक्षण की भी मांग उठ रही है 

अगर जाति के आधार पर आरक्षण रहा तो  आने वाले समय में ये आग और भी फैलेगी 
क्यूंकि गरीब लोग तो हर जाति में है
जातिगत आरक्षण से बेहतर है आर्थिक आधार पर हो आरक्षण, जो गरीब हो उसे मिले आरक्षण