आये दिन मचाते थे आतंक, देते थे कत्ल की धमकियां - हॉस्टल से निकाला तो बोले, "मुसलमान हैं इसलिए....


जब हॉस्टल के बच्चों को कुछ ज्यादा ही तकलीफ पहुंचाने लगे थे। तो मजबूरन हॉस्टल को कड़ा कदम उठाना पड़ा। 

हॉस्टल ने छात्रों को बहुत समझाने की कोशिश कि हॉस्टल का माहोल न बिगाड़े लेकिन समझ नहीं आया उन छात्रों को तब हॉस्टल से निकाला गया और अब अपनी गलती छिपाने के लिए छात्र अपने मुस्लिम होने का हवाला देते हुए इलज़ाम केंद्र सरकार पर लगा रहे हैं।

दरअसल, राजस्थान की राजधानी जयपुर की एक निजी यूनिवर्सिटी के हॉस्टल से जम्मू-कश्मीर के 250 छात्र को बाहर निकाल दिया गया। वहाँ के लोगों ने भी इन उपदर्वी छात्रों को पनाह देने से इंकार कर दिया हैं। यह छात्र हॉस्टल में बाकि छात्रों को रोज़ाना परेशान किया करते थे।

आये दिन मचाते थे आतंक व देते थे कत्ल की धमकियां .. जब हॉस्टल से निकाला तो बोले -" मुसलमान हैं हम इसलिए किये जा रहे परेशान "

पहले तो छात्रों ने इसे नज़र अंदाज़ किया लेकिन बाद में जब असहनीय हुआ तो उन्होंने इन छात्रों की शिकायत हॉस्टल इंचार्ज से करी. उसके बाद हॉस्टल ने यह ठोस कदम उठाया और उन उपदर्वी छात्रों को हॉस्टल से चले जाने को कह दिया। 

अब यह छात्र दर दर भटक रहे हैं लकिन कोई भी स्थानीय निवासी इन उपदर्वी छात्रों को रहने के लिए छत तक देने के लिए तैयार नहीं हैं।