अकबर ने 7 फ़ीट 8 इंची बहलोल खान को भेजा था महाराणा प्रताप का सर लाने, कभी नहीं हारा था बहलोल



महाराणा प्रताप की ये तस्वीर जो ऊपर भी है 
और एक साफ़ तस्वीर हम नीचे भी दे रहे है, ये तस्वीर आपने कई बार देखी होगी 

Image result for bahlol khan

ये तस्वीर असल में एक पेंटिंग है, और ये हल्दीघाटी युद्ध के दौरान घटित एक घटना की है 
इस तस्वीर को आपने कई बार पहले देखा होगा 

महाराणा प्रताप किसी को चीर रहे है 
पर ये शख्स है कौन ? 

मुगली अकबर का सबसे खतरनाक वाला एक सेना नायक हुआ . . . नाम - बहलोल खां . . . . कहा जाता है कि हाथी जैसा बदन था इसका . . . और ताक़त का जोर इतना कि नसें फटने को होती थीं . . . ज़ालिम इतना कि तीन दिन के बालक को भी गला रेत-रेत के मार देता था . . . . बशर्ते वो हिन्दू का हो . . . . . एक भी लड़ाई कभी हारा नहीं था अपने पूरे करियर में ये  बहलोल खां . . . .

काफी लम्बा था, 7 फुट 8 इंच की हाइट थी, कहा जाता है की घोडा उसने सामने छोटा लगता था 
बहुत चौड़ा और ताकतवर था  बहलोल खां, अकबर को  बहलोल खां पर खूब नाज था, लूटी हुई औरतों में से बहुत सी  बहलोल खां को दे दी जाती थी 

फिर हल्दीघाटी का युद्ध हुआ, अकबर और महाराणा प्रताप की सेनाएं आमने सामने थी, अकबर महाराणा प्रताप से बहुत डरता था इसलिए वो खुद इस युद्ध से दूर रहा 

अब इसी  बहलोल खां को अकबर ने भिड़ा दिया हिन्दू-वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप से . . . . . लड़ाई पूरे जोर पर और मुगलई गंद खा-खा के ताक़त का पहाड़ बने  बहलोल खां का आमना-सामना हो गया अपने प्रताप से . . .

अफीम के ख़ुमार में डूबी हुई सुर्ख नशेड़ी आँखों से भगवा अग्नि की लपट सी प्रदीप्त रण के मद में डूबी आँखें टकराईं . . . और जबरदस्त भिडंत शुरू. . . कुछ देर तक तो राणा यूँ ही मज़ाक सा खेलते रहे मुगलिया बिलाव के साथ . . . . 

और फिर गुस्से में आ के अपनी तलवार से एक ही वार में घोड़े सहीत . . हाथी सरीखे उस नर का पूरा धड़ बिलकुल सीधी लकीर में चीर दिया . . . ऐसा फाड़ा कि बहलोल खां का आधा शरीर इस तरफ और आधा उस तरफ गिरा 

ऐसे-ऐसे युद्ध-रत्न उगले हैं सदियों से भगवा चुनरी ओढ़े रण में तांडव रचने वाली मां भारती ने . . . . . जय महाकाल.!

Loading...


Loading...