6 साल से स्थानीय मुस्लिमो ने दे रखा था पनाह, योगी आये तो पकड़ा गया बांग्लादेशी आतंकी अब्दुल्लाह !


UP STF ने त्यौहारों पर भारत में खून की होली खेलने की फिराक में छिपे चार आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया है। 

रविवार को एसटीएफ के हाथों ये कामयाबी लगी है। बता दें उत्तर प्रदेश एसटीएफ व एटीएस ने आज संयुक्त अभियान में चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है। देवबंद से गिरफ्तार इन आतंकियों में एक बांग्लादेशी आतंकी भी है। एसटीएफ व एटीएस अब इनके बारे में विस्तृत जानकारी एकत्र करने में लगी हैं। 

देवबंद से गिरफ्तार आतंकियों में एक बांग्लादेश का आतंकी है। अंसारुल बांग्ला टीम से जुड़ा अब्दुल्ला अभी मुजफ्फरनगर के चरथावल के कुटेसरा में रह रहा था। वह वहां पर फर्जी आधार कार्ड तथा पासपोर्ट बनाने के काम में लिप्त था। 

अब्दुल्ला के अलावा तीन अन्य लोग देवबंद के आसपास के क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधियों में सक्रिय थे। इनमें से दो कश्मीरी व एक बिहार का है। बांग्लादेशी आतंकी फर्जी पासपोर्ट के आधार पर भारत में रह रहा है। यह यहां पर आतंकियों को आश्रय देने के साथ ही उनके फर्जी दस्तावेज तैयार कराने में बेहद सक्रिय था। एटीएस व एसटीएफ की टीमों से सूचना के आधार पर मुजफ्फरनगर, शामली व बागपत में तलाशी का अभियान चलाया था। 

एसटीएफ के एडीशनल बृजेश श्रीवास्तव के नेतृत्व में आज अब्दुल्ला को गिरफ्तार किया गया। उसको मुजफ्फरनगर में पकड़ा गया है। यहां से पहले वह सहारनपुर के अम्बेहटा शेख थाना देवबंद में 2011 से रह रहा ïथा। यहीं से उसने फर्जी दस्तावेज की मदद से पासपोर्ट बनवा लिया था।

 प्रारंभिक पूछताछ में अब्दुल्ला ने बताया कि वह देवबंद में रहकर बांग्लादेश के फैजान की मदद से आतंकियों तथा बांग्लादेश के अन्य लोगों के फर्जी दस्तावेज तैयार कर उनके लिए भारत में ठिकाने तैयार कर रहा था। एसटीएफ व एटीएस अब फैजान की तलाश में है। अब्दल्ुलाह बाग्ंलादेश के प्रतिबंधित आतंकी संगठन अंसारुल बांग्ला टीम से जुड़ा है।