बदल रहा है भारत : 373 वैज्ञानिक 2014 के बाद स्वदेश लौटे, अब कर रहे भारत के लिए काम !



बदल रहा है भारत : 373 वैज्ञानिक 2014 के बाद स्वदेश लौटे, अब कर रहे भारत के लिए काम ! 
और वाकई ये अच्छे दिन ही है 

भारत हमेशा से तेज दिमाग वाले लोगों का देश रहा है 
हमारे पूर्वजो ने कई अविष्कार किये 

गणित विज्ञानं उपचार इंजीनियरिंग में भारतियों का कोई मुकाबला नहीं 
हमारे पूर्वजो ने 5000 साल पहले ही उपचार पद्धिति सीख ली थी, ऐसा लोहा बना दिया था जिसमे जंग ही नहीं लगती

प्लास्टिक सर्जरी से लेकर एयरोप्लेन और बाकि कई तरह के सिद्धांत भारत से ही निकले 
विदेशियों ने कई सिद्धांत चुराकर अपने नाम करवा लिए 
उदाहरण के तौर पर हवाई जहाज, गरूत्वाकर्षण के सिद्धांत इत्यादि 

भारत 1947 में अंग्रेजो से आज़ाद हुआ, ऐसी सरकारें रही की भारत के लोग विदेशों में जाने लगे 
अधिक पैसा तो वजह थी ही 
दूसरी वजह ये थी की भारत के हालत सही नहीं थे, ज्ञान को सम्मान मिलना बंद हो गया, चाटुकारिता को ही सम्मान मिलता गया 

बहुत से महान वैज्ञानिक अमरीका और यूरोप के देशों में जाने लगे 
पर 2014 के बाद से जैसे देश का माहौल ही बदल गया, 2014 के बाद से अबतक अमरीका और यूरोप के देशों से 373 भारतीय मूल के वैज्ञानिक भारत आये है, मोटी तनख्वाह और आराम की जिंदगी छोड़ भारत आये है 


और ये सबकुछ नरेंद्र मोदी सरकार के कारण ही हो सका है, जो मेक इन इंडिया 
और इस तरह के कई कार्यक्रम चला रहे है, लोगों में स्वदेशी और भारतीयता का भाव बढ़ रहा है और 373 वैज्ञानिको का लौटना ये बात साबित करता है 

सच में ये अच्छे दिन ही कहलायेंगे