आज ही के दिन मेरे पिता को 1990 में श्रीनगर में गोली मार दी गयी थी : संजय सूरी, अभिनेता



आज 1 अगस्त की तारीख है, बहुत से लोगों के लिए ये एक सामान्य सा दिन है, बहुतों के लिए खास दिन भी है 
पर अभिनेता संजय सूरी के लिए ये दिन और ये तारीख काफी दर्दनाक है 

आज देखें अभिनेता संजय सूरी के क्या ट्वीट किया 
उनके ट्वीट में उनका दर्द झलक रहा है 


बता दें की संजय सूरी कश्मीरी मूल के हिन्दू हैं, 1990 में कश्मीर में मुस्लिमो ने जिहाद का ऐलान किया था 

मुस्लिम कश्मीर में बहुसंख्यक थे, मस्जिदों के जरिये जिहाद का ऐलान किया गया और 
हिन्दुओ का कत्लेआम शुरू हुआ 

श्रीनगर में संजय सूरी के पिता रहा करते थे, श्रीनगर सूरी परिवार के पूर्वजो की भूमि थी 
1 अगस्त 1990 का वो दिन है जब कुछ स्थानीय मुस्लिम आये और संजय सूरी के पिता को गोली मार दी 

संजय सूरी और उनके भाई बहनों ने बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाई, उनको जम्मू भागना पड़ा, जहाँ वो रेफूजी कैंप में रहे कुछ दिनों बाद दिल्ली आ गए

आज भी संजय सूरी इस दिन को याद करते है 
क्यूंकि ये दिन उनके लिए काफी दर्दनाक है, जो लोग अपनों को खोते है सिर्फ वही इस दर्द का अहसास कर सकते है 

ये कहानी सिर्फ संजय सूरी की नहीं है, लाखों कश्मीरी हिन्दुओ की यही कहानी है 
हर हिन्दू अपने सीने में ऐसा ही दर्द लिए बैठा है, किसी   पिता, किसी की माता, किसी की बहन, किसी 
के बेटे को मार दिया गया, और आजतक इंसाफ नहीं हुआ