ये है मोदी की कूटनीति, जिसने चीन को कूट दिया है, 14 में से 9 पडोसी भारत के साथ है !



चीन हमेशा से ही भारत पर दादागिरी दिखाते हुए आया है 
पर डोकलाम के बाद से चीन की फटी हुई है, अब चीन पीछे जायेगा तो उसका सारा रुतबा ख़राब, और भारत भी उसे 1 इंच आगे नहीं बढ़ने दे रहा है 

धमकी पर धमकी दे रहा है चीन पर कुछ भी करने की उसकी हैसियत ही नहीं 
और उसका सबसे बड़ा कारण आज आपको अच्छे से समझ लेना चाहिए 

पहले ये नक्शा देखिये 

Image result for china neighbouring countries map
चीन और उसके पडोसी 

भारत को छोड़कर चीन के मोठे तौर पर 14 पडोसी देश है 
भारत के अलावा इनमे से अधिकतर देशों के साथ चीन के बड़े विवाद भी है 

भारत से अधिक विवाद तो वियतनाम, जापान और मुख्य तौर पर ताइवान के साथ है 
इनमे से भी वियतनाम और ताइवान तो ऐसे देश है, जो बस मौके की ताक में है, चीन से इनका विवाद इतना गहरा है की भारत और चीन का कोई बड़ा युद्ध होता है 
तो चीन को सबसे ज्यादा डर वियतनाम और ताइवान का है 

डोकलाम मुद्दे पर 14 में से 9 देश भारत के साथ है 
वहीँ 2 देश तो बिलकुल निष्पक्ष है, न वो चीन के साथ है और न ही भारत के साथ 
वहीँ केवल 3 ही ऐसे देश है जो  चीन के साथ खड़े हो सकते है, इनमे से भी सिर्फ पाकिस्तान पर ही चीन भरोसा कर सकता है 

और भारत के साथ अगर कोई बड़ा युद्ध हुआ तो भारत से तो निपटना ही होगा 
साथ ही साथ वियतनाम और ताइवान कब हमला करें ये चीन भी नहीं जानता, ताइवान की महिला राष्ट्रप्रमुख तो बीजिंग में ताइवान का झंडा गाड़ने की बातें करती हैं 

ये मोदी की ही कूटनीति है 
वियतनाम से ब्रह्मोस डील की बातें चलाई जा रही है, वहीं ताइवान से भी अच्छे सम्बन्ध स्थापित किये जा रहा है 
और इसी कारण चीन भारत पर हमले की केवल धमकियाँ ही दे रहा है, उसकी बुरी तरह फटी हुई है 

Loading...


Loading...