किसी मौलाना से भी ज्यादा कट्टरपंथी, इस शख्स को कांग्रेस ने 10 साल बनाये रखा उपराष्ट्रपति !



भारत का उपराष्ट्रपति 
इस पद पर हामिद अंसारी 10 साल तक बैठे रहे, कांग्रेस ने 2 बार हामिद अंसारी को उपराष्ट्रपति बनाये रखा

हामिद अंसारी का पूरा नाम मोहम्मद हामिद अंसारी है 
हामिद अंसारी कांग्रेस के पूर्व प्रमुख मुख्तार अहमद अंसारी के रिश्तेदार है, इन्होने अपना करियर इंडियन फॉरेन सर्विसेज से शुरू किया 

बाद में कांग्रेस ने इन्हे अल्पसंख्यक विभाग में महत्व्यपूर्ण पद दिया और बाद में भारत का उपराष्ट्रपति बनाया 
2007 से लेकर 2017 तक हामिद अंसारी भारत के उपराष्ट्रपति रहे 
और एक ऐसे उपराष्ट्रपति रहे जो की किसी मौलाना से भी ज्यादा बड़ा कट्टरपंथी था 

हामिद अंसारी ने पिछले 10 साल में कई बारे ऐसे काम किये है 
जिसने इनको एक घोर सांप्रदायिक इंसान साबित किया है, अलग अलग मौकों पर हामिद अंसारी ने अपने घोर सांप्रदायिक होने का सबूत भी दिया 

* दशहरा के मौके पर एक बार हामिद अंसारी ने पूजा की थाली पकड़ने से इंकार कर दिया 

* हामिद अंसारी ने दिल्ली में दशहरा के मौके पर राम सीता लक्ष्मण की आरती करने से इंकार कर दिया 

* हामिद अंसारी ने तिलक लगवाने से भी इंकार कर दिया 

* राज्यसभा में एक बार हामिद अंसारी ने वन्दे मातरम कहने से भी इंकार कर दिया और 
वन्दे मातरम का कार्यक्रम ही रद्द करवा दिया, क्यूंकि ये खुद राज्यसभा के सभापति थे 

इसके अलावा भी हामिद अंसारी कई मौकों पर अपने घोर जिहादी होने का सबूत देते रहे 
कई बार इन्होने तिरंगे को भी सलाम करने से इंकार किया 

इन सभी के अलावा हामिद अंसारी पर राज्यसभा टीवी में वित्तीय गड़बड़ी करने के भी आरोप है, चूँकि हामिद अंसारी एक संवैधानिक पद पर रहे इसलिए इसकी जांच नहीं हुई 
परन्तु अब उनके रिटायर होने के बाद इसकी भी जांच होगी 

राज्य सभा के पैसे से फिल्मे बनाई गयी, वामपंथी न्यूज़ पोर्टल्स को पैसा दिया गया, राज्यसभा टीवी में कट्टरपंथी लोगों की नियुक्ति की गयी 
दिग्विजय सिंह की पत्नी भी राज्यसभा टीवी में बड़े पैकेज पर नियुक्त की गयी 

हामिद अंसारी ऐसे दूर उपराष्ट्रपति है जो की 2 बार चुने गए, 10 साल तक उपराष्ट्रपति रहे 
कांग्रेस ने एक ऐसे शख्स को 10 साल तक उपराष्ट्रपति बनाये रखा, जो घोर सांप्रदायिक रहा, अबतक का सबसे सांप्रदायिक उपराष्ट्रपति 

और जाते जाते हामिद अंसारी इस देश को भी असहिष्णु बता गए