ब्रेकिंग : TMC के विधायक ने छोड़ा ममाता का साथ, बोले "रामनाथ कोविंद को करेंगे वोट"


देश के 15वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए आज मतदान शुरू हो गया है। मतदान के दौरान TMC में फूट पड़ गई है।

दरअसल ममता ने कांग्रेस की मीरा कुमार का समर्थन करने का ऐलान किया था लेकिन ऐन वक्त पर उनके विधायकों ने BJP के रामनाथ का समर्थन करने का ऐलान कर दिया है। विधायकों का कहना है कि पीएम मोदी के फैसले से देश को फायदा ही होगा। 

इससे पहले आजपीएम मोदी के साथ-साथ भाजपा अध्सक्ष अमित शाह, सुबहमणियम स्वामी ने भी वोट डाला। बता दें कि राष्ट्रपति पद के मुकाबला कांग्रेस की मीरा कुमार और BJP के रामनाथ कोविंद के बीच है।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है, जिसके अगले दिन यानी 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति पदभार ग्रहण करेंगे। सियासी समीकरणों को देखें तो इस चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की जीत पक्की मानी जा रही है। 

राष्ट्रपति चुनाव की दौड़ में शामिल दोनों उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और मीरा कुमार दलित समुदाय से आते हैं और उन्होंने देशभर में घूम-घूम कर विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की है।

आंकड़ों की बात की जाए तो बिहार के पूर्व राज्यपाल कोविंद की दावेदारी मजबूत नजर आ रही है, क्योंकि उन्हें एनडीए के अलावा जेडीयू और बीजू जनता दल (बीजेडी) जैसे विपक्षी दलों का भी समर्थन हासिल है। यहां जेडीयू के पास निर्वाचक मंडल का कुल 1।91 फीसदी वोट है, जबकि बीजेडी के पास 2।99 फीसदी वोट है। इसके अलावा तेलंगाना में सत्तारूढ़ 

 तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के पास 2%, ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (AIADMK) का एक गुट (5।39 %) और वाईएसआर कांग्रेस (1।53%) ने भी कोविंद के पक्ष में मतदान करने की घोषणा की है।