जिनपिंग को जर्मनी में कोई होटल तक नहीं मिला, जबकि PM मोदी के ठहरने का इंतेज़ाम राजभवन में !


चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग विदेश में बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं। जर्मनी के हैम्बर्ग में आयोजित G-20 में हिस्सा लेने पहुंचे जिनपिंग को वहां ठहरने के लिए होटल तक नहीं मिल रहा है।

बताया जा रहा है कि हैम्बर्ग में जिनपिंग के लिए बड़ा होटल बुक करने में खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, जिनपिंग के साथ हैम्बर्ग का दौरा कर रहे स्टाफ ने G-20 के नेताओं से मुलाकात से पहले होटल बुक करने में देरी कर दी, जिसके चलते चीनी राष्ट्रपति को ठहरने के लिए बड़ा होटल नहीं मिल रहा है।

जर्मनी के स्थानीय अखबार हैमबर्गर अबेंडब्लाट के मुताबिक फॉर सीजन्स होटल ने रूम उपलब्ध नहीं होने की वजह से चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग की मेजबानी करने से इनकार कर दिया। 

जब जिनपिंग को शहर के किसी बड़े होटल में ठहरने की इजाजत नहीं मिली और बाहर निकलना पड़ा, तो बेहद शर्मिंदगी महसूस हुई। 

बजफीड न्यूज के मुताबिक सऊदी अरब के किंग सलमान और उनका स्टाफ फॉर सीजन्स होटल और हैम्बर्ग के दो बड़े होटलों में ठहर रहा है। हालांकि जिनपिंग हैम्बर्ग के सीनेट हाउस और उनका स्टाफ शहर में स्थित चीनी वाणिज्यिक दूतावास में ठहर रहा है। 

बताया जा रहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पार्क हयात में ठहरे हुए हैं। वह जी-20 समिट से इतर जिनपिंग उत्तरी कोरिया मसले को लेकर चर्चा करेंगे। 

वहीं, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अटलांटिक केम्पिंस्की होटल में ठहरे हुए हैं। जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो भी इसी होटल में ठहरे हुए हैं। यह पहली बार नहीं है, जब चीनी स्टाफ ने समय से होटल बुक नहीं करने की गलती की है।