इस्लामी आतंक के पीड़ित बेबी मोशे से मिलेंगे PM मोदी, बेबी मोशे ने कहा, "मोदी अंकल नमस्ते"


आज PM मोदी बेबी मोशे से मुलाकात करेंगे। आपको बता दें कि ये बच्चा 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के समय बाल बाल बच गया था।
यही नहीं आतंकियों ने मोशे के मां-बाप को भी मार दिया था। तब मोशे की भारतीय आया तो सांड्रा सैमुएल ने बड़ी मुश्किल से बेबी मोशे की जान बचाई थी। बेबी मोशे अब इजरायल में अपने दादा-दादी के साथ रहते हैं।

मोशे को बचाने वाली आया सैंड्रा सैमुअल्स का मानना है कि PM मोदी की यहूदी देश की यात्रा के दौरान बच्चे के साथ उनसे मुलाकात करने का फैसला दिखाता है कि सरकार पीड़ितों की परवाह करती है।

सैंड्रा को इस्राइल सरकार ने मानद नागरिकता दी थी ताकि वह देश में और मोशे के साथ रह सकें। मोशे के साथ उनका एक विशिष्ट जुड़ाव है। मोशे अब 10 साल का हो गया है।

मोशे उस वक्त सिर्फ 2 साल का था जब मुंबई में शाबाद में दूतों के तौर पर काम रहे उसके माता-पिता रिवका और गैवरियल होल्त्जबर्ग नरीमन हाउस में लश्कर ए तैयबा के आतंकवादियों के हमले में 6 अन्य लोगों के साथ मारे गए थे। नरीमन हाउस को शाबाद हाउस के नाम से भी जाना जाता है। 

सैंड्रा ने इस मुलाकात के बारे में खुशी जताते हुए कहा, ‘मुझे यकीन नहीं हुआ जब मोशे के दादा रब्बी शिमोन रोसेनबर्ग ने मुझे बताया कि हमें PM मोदी से मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है।

यह एक बड़ा सम्मान है और सुखद आश्चर्य है। मैं काफी प्रभावित हूं। यह स्पष्ट संकेत है कि भारत सरकार 26/11 हमले के पीड़ितों की परवाह करती है।