इस्लामिक स्टेट की तरह चल रहा है पश्चिम बंगाल में राज, तुष्टिकरण में JK से भी आगे बंगाल सरकार



हिन्दुओ पर अत्याचार के मामले में 2017 यानि आज वर्तमान में पश्चिम बंगाल जम्मू कश्मीर से भी कहीं आगे निकल चूका है 
कश्मीर से तो हिन्दू भगा दिए गए, अब वहां हिन्दू है ही नहीं 
जम्मू में हिन्दू है, पर हिन्दुओ पर जम्मू में ऐसे भीषण अत्याचार नहीं हो रहे 

बेशक आज वर्तमान में पश्चिम बंगाल में जितना हिन्दुओ पर अत्याचार हो रहा है उतना भारत के किसी भी कोने में नहीं हो रहा है 
पश्चिम बंगाल में शरिया और इस्लामिक स्टेट की तरह सरकार चल रही है 

* दुर्गा पूजा सरस्वती पूजा पर रोक लगा दी जाती है 
* तुष्टिकरण के लिए "रामधेनु" शब्द को "रंगढेनु" कर दिया जाता है 
* हिन्दू मंदिर का प्रमुख एक जिहादी कट्टरपंथी मुस्लिम को बना दिया जाता है 
* हिन्दुओ पर योजना के तहत दंगे किये जाते है, हिन्दुओ का इलाके से पलायन करवाया जाता है, बांग्लादेशियों को वहां सेटल करवा दिया जाता है 
* मुल्ला मौलवियों को हर महीने मासिक वेतन दिया जाता है, किस बात का वेतन ये किसी को नहीं पता 
* 2017 के लिए ममाता सरकार मस्जिद और मदरसे चलाने के लिए 2815 करोड़ रुपए का फण्ड देती है 
* रामायण और महाभारत पढ़ाये जाने पर भी बंगाल सरकार को आपत्ति है 

और इन सबके बाबजूद ममाता बनर्जी सेक्युलर नेता कहलाती है 
जो कुछ पश्चिम बंगाल में आज हो रहा है, वैसा तो हिन्दुओ के साथ जम्मू कश्मीर में भी नहीं हो रहा है