सलीम की दीवानी मीडिया क्यों नहीं बता रही की, आफताब सैंकड़ो की जान ले लेना चाहता था !


नाम : डॉ आफताब अहमद 
निवासी : बरियातु, राँची 
फ्लाइट : एयर एशिया I5-546
रुट : दिल्ली-राँची-कोलकाता।

श्री मान डॉ आफताब अहमद जोल्हा जी राँची के लिए दिल्ली से फ्लाइट धरे रहे 10 जुलाई याने सोमवार को.. नाम के आगे डाक्टर लगा है, अब कौन से डाक्टर है नहीं पता लेकिन पढ़े-लिखे तो जरूर है, इतना कॉमन सेंस की बात है.. उम्र 32 साल।।.. 

तो जोल्हा जी फ्लाइट धरे रहे दिल्ली से .. और आराम से आ रिये थे.. फ्लाइट जब राँची लैंड करने को आई तो पता नहीं क्या खुराफात सूझी जोल्हा जी को कि सीधा उठे और इमरजेंसी खिड़की खोलने लगे.. इनकी इस अचानक नेक करतूत से सभी यात्री व क्रू-मेंबर्स हतप्रभ और स्तब्ध!!.. दौड़े उसकी ओर दबोचने को, लेकिन जोल्हा जी के नेक कार्य में रुकावट?! तौबा-तौबा!! .. 

अपने परम इष्ट का नाम ले टूट पड़े इनके ही ऊपर श्री मान जोल्हा जी.. और इन्हें मार-झार कर जख्मी कर दिए.. लेकिन ई लोग भी कम न थे.. कस के दबोचे रखे जब तक फ्लाइट सेफली लैंड न हो गई राँची एयरपोर्ट में। .. फिर वहाँ उसे CISF के हवाले कर दिया गया.. जहाँ जोल्हा जी की मस्त खातिरदारी हुई.. फिर उसके बाद उसे डोरंडा पुलिस के हवाले कर दिया गया।

अच्छा तो अमरनाथ वाली बस में कितने पैसेंजर थे!? मने कि कितने जनों की जान बचाई थी सलीम भाई जान ने !? .. और इन्हें अब तक कितना अवार्ड और पुरस्कार मिल चुका है!? और मीडिया में कितने लाइम नाइट हुए है!? .. ऐसे कोई दुर्भावना नहीं है , जानें बचाई है तो प्रशंसा के पात्र जरूर है और होनी भी चाहिए!!

लेकिन इधर आफताब जोल्हा जी खिड़की खोलने में कामयाब हो गए रहते तो!!? .. तो इधर कम जानें जाती क्या !? .. इस जोल्हे को दबोच के रखने वाले कौन लोग थे, किसी का नाम मालूम है क्या!? .. मीडिया ने जोहमत उठाई इस बात को जानने की कि इतने बड़े हादसे को टालने वाले लोग कौन थे.. उनके नाम क्या थे!? .. क्या वे हाइलाइट में नहीं आने चाहिए थे !?

 कोई पुरस्कार नहीं मिलना चाहिए था!? क्या वे इसके हकदार नहीं थे!?
ये घटना इस सोमवार की रात 9:50 की घटना है.. कृपा हमारी इंटरनेट मीडिया का कि ये खबर हमें आज पता चल रही है।.. अब तो ये खबर बासी हो चुकी है।.. अब कौन प्रशंसा करेगा।

खैर छोड़िये .. नेकदिली का काम केवल जोल्हे ही करते हैं ऐसा हमारी मीडिया और इंटेलेक्चुअलस का मानना है।.. अभी सलीम जी के ऊपर और भी स्क्रिप्ट्स लिखने बाकी होंगे.. डिस्टर्ब मत कीजिये.. लिखने दीजिये।