हाईकार्ट की जमीन पर बनी मस्जिद की दीवार गिराने का आदेश, अब कोर्ट के खिलाफ फतवा जारी करेंगे ?


इलाहाबाद. हाईकोर्ट इलाहाबाद परिसर में अतिक्रमण कर बनी मस्जिद की दिवार एक सप्ताह में हटा लेने का विपक्षियों को निर्देश दिया है।

अब देखना यह है कि हर छोटी-छोटी बात पर फतवे जारी करने वाले ये मौलवी/मौलाना क्या इस बार इस आदेश के खिलाफ कोर्ट को लेकर फतवा जारी करते हैं या नहीं ? अज़ान को लेकर जब सोनू निगम ने ट्वीट किया था तो उसके बाद सोनू निगम के खिलाफ फतवों का जोर जारी हो गया था यहाँ तक कि सोनू निगम ने फतवे के खिलाफ अपना सिर तक गंजा करवा लिया था.

अवैध निर्माण की ये कोई नयी बात नहीं है आए दिन कहीं ना कहीं मुस्लिम समुदाय के लोग मस्जिद को लेकर अवैध निर्माण करते हुए दिख ही जाते हैं और जब कोई इनका विरोध करे तो ये लड़ने पर दंगा करने पर उतारू हो जाते हैं.मुगल काल से ही भारत में हिन्दुओं के कई मंदिरों को तोड़ मस्जिदों का निर्माण किया गया है.


याचिका का कहना है कि हाईकोर्ट को मिली जमीन पर पहले मस्जिद का कोई अस्तित्व नहीं था.जिला प्रशासन की रिपोर्ट में भी मस्जिद का जिक्र नहीं है.अवैध रूप से अतिक्रमण कर मस्जिद बनायी गयी है और उसे वक्फ बोर्ड में पंजीकृत करा लिया गया.

हैरान करने वाली बात है जो लोग कोर्ट तक की जमीन को नहीं छोड़ते वो लोग दूसरी जगह को क्या खाक छोड़ेंगे अब इस बात पर खुद कोर्ट को सोचना चाहिए आज बंगाल में यही हालत है हिन्दुओं के घर वार इन मुसलमानों ने तोड़ डाले और तो और हिन्दुओं की जमीनों पर अवैध कब्जा करते हुए उन पर मस्जिद खड़ी कर डाली.