मुस्लिम लड़की ने कहा, "तीन सालों से मेरा भाई कर रहा है मेरा रेप, हर बार गोली खिला देता है"


एक ब्रिटिश टीनेजर ने दावा किया है उसे बंदूक की नोक पर पाकिस्तान में उसके कजन के साथ शादी के लिए मजबूर किया गया। लड़की ने बताया कि उसके साथ तीन सालों तक हर दिन रेप होता रहा।
तसबासन खान (बदला हुआ नाम) ने बताया कि जब वह 15 साल की थी तब उसकी चाची ने कहा कि वह गर्मी की छुट्टियों में पाकिस्तान चल रही है।

खान के पिता ने उसकी मां की हत्या कर दी थी। तब खान की उम्र महज 12 साल थी। मां की हत्या के बाद पिता ने तसबासन खान को और उसके तीन भाइयों को साउथ यॉर्कशर के डॉनकास्टर में उसकी चाची के पास छोड़ दिया था।

जब खान पाकिस्तान आई तो उसे बंदूक की नोक पर कजन के साथ शादी के लिए मजबूर किया गया। खान से उसका कजन 6 साल बड़ा था। खान को उसने तीन सालों तक बंधक बनाकर रखा और हर रात उसने रेप किया। बाद में खान पर शादी के लिए दबाव डाला गया ताकि उसके कजन को ब्रिटेन का वीजा मिल सके।

26 साल की खान ने एक्सप्रेस संडे से बताया, 'मुझे लगा कि मैं पाकिस्तान छुट्टियां मनाने जा रही हूं। मैं इसे लेकर उत्साहित थी। दो महीने बाद मेरा स्कूल खुलने वाला था। मैंने अपने अंकल से कहा कि हमें अब यहां से जाना चाहिए। वह हमेशा टालते रहे और उन्होंने रुकने को कहा। गर्मी की छुट्टियां खत्म हो चुकी थीं। मेरा स्कूल खुल चुका था और मैं हफ्तों देर थी। चार महीने बाद वह मेरे कमरे में बंदूक के साथ आए और उन्होंने कहा कि उसे कजन के साथ शादी करनी होगी।'

खान ने कहा, 'मैंने शादी से साफ इनकार कर दिया लेकिन उन्होंने कहा कि यदि तुम शादी नहीं करती हो तो तुम्हारे भाइयों की हत्या हो जाएगी। मैं सहमी हुई थी लेकिन लगा कि मेरे पास कोई विकल्प नहीं है। शादी की रात ही मेरे कजन ने मुझसे रेप किया। मुझे लगता था कि मेरे चचेरे भाई मेरे परिवार के हैं। मेरा यह सोचना बिल्कुल गलत निकला। उसने तीन साल तक हर रात मेरे साथ रेप किया। मुझे लगता था कि कमरे में बंद मैं एक सेक्स वर्कर हूं। मैं बुरी तरह से टूट चुकी थी।'

तीन सालों की इस प्रताड़ना के बाद खान को पाकिस्तान के लोकल कोर्ट से तलाक मिल गया। 2008 में खान यूके लौट गई। 26 साल की खान एक स्कूल के साथ काम कर रही हैं। अब वह जबरन शादी के खिलाफ ब्रिटेन में एक संस्था के साथ काम कर रही हैं।

खान बीते वक्त को याद करते हुए बताती हैं, 'मैंने कई बार अपनी जान लेने की कोशिश की। मैं अपनी भीतर उस शख्स को देखती थी जो शादी और बच्चों को साथ खुश रहना चाहती थी लेकिन उस वाकये के बाद से मेरी हिम्मत नहीं हुई।' खान ने ब्रिटिश सरकार से आग्रह किया है कि विदेश जाने वाली लड़कियों के साथ जबरन शादी के वाकये काफी होते हैं ऐसे में इसके खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए। खान ने कहा, 'एशियन कम्युनिटी को समझना काफी मुश्किल है। मुस्लिम परिवारों में झूठी शान काफी अहम है।'

खान ने दावा किया कि ऐसे वक्त में उसके भाइयों ने भी मदद नहीं की। खान ने कहा, 'यहां तक कि मेरे भाइयों ने भी मेरा पक्ष नहीं लिया। मैं महिलाओं की मदद में लग गई। एशियन महिलाएं मेरे परिवार को जानती थीं। जब मैं उनसे बात करती थी तो वे बताती थीं कि मुस्लिम संस्कृति में लड़कियों को जो कहा जाता है वहीं करना होता है। पाकिस्तान की पिछड़े इलाकों में पुरुष जो चाहते हैं वही महिलाओं को करना होता है। हमारी जिंदगी का मतलब कुछ भी नहीं है।'