मोदी के खिलाफ चीन के संपर्क में कांग्रेस, राहुल गाँधी ने की चीनी राजदूत से गुपचुप मुलाकात !



नोट : 1962 का हमला भी नेहरू ने ही भारत पर करवाया था, पहले भारत में बनने वाले हथियारों के सारे कल कारखाने बंद करवा दिए, अरुणांचल के इलाके में सेना को कम कर दिया 
फिर नेहरू चीन यात्रा पर गया, और उसके तुरंत बाद चीन ने भारत पर हमला कर दिया 

नेहरू ने भारतीय वायु सेना का इस्तेमाल करने से मना कर दिया, चीन ने भारत के बड़े हिस्से पर कब्ज़ा कर लिया जो आज भी उसके पास है 

पिछले दिनों कांग्रेस के बड़े नेता शशि शरूर ने चीन की तरफ से भारत को धमकी देते हुए कहा था की, "मोदी ड्रैगन से न उलझे वरना ड्रैगन छोड़ेगा नहीं" 

और अब बेहद गंभीर खुलासा हुआ है 
देखें पत्रकार मानक गुप्ता ने क्या खुलासा किया है 


राहुल गाँधी जो की एक सांसद है, और कांग्रेस का प्रमुख है 
वो चीनी राजदूत से मिल रहा है वो भी गुपचुप तरीके से, दोनों की मुलाकात पर कांग्रेस कुछ बोल नहीं रही 

पाकिस्तान की मदद ये लोग पहले ही मोदी के खिलाफ मांग चुके है 
और मोदी के खिलाफ चीन की भी मदद ले रहे है, मोदी से पाकिस्तान चीन के अलावा कांग्रेस ही परेशान है 

पाक - मोदी से परेशान है क्यूंकि मोदी विश्व के मंचों पर पाक को आतंकी बताते है, पाकिस्तान को सेना मुहतोड़ जवाब देती है 

चीन - ये भी मोदी से परेशान है क्यूंकि मोदी की नीतियों से भारत चीन से आगे चल रहा है 
जिसे चीन बर्दास्त नहीं कर पा रहा है 

कांग्रेस - ये तो मोदी से तबसे परेशान है जबसे मोदी गुजरात में मुख्यमंत्री बने थे 

कांग्रेस चीन के राजदूत से गुपचुप तरीके से मुलाकात कर रही है, वहीँ चीन भारतीय सीमा पर तनाव फैला रहा है 
कांग्रेस पार्टी ने देश के टुकड़े कर दिए थे, कुर्सी के लिए नेहरू ने पाकिस्तान बनवा दिया था 
ताकि जल्दी कुर्सी मिल जाये, ये पार्टी सत्ता के लिए पाकिस्तान की मदद मांग चुकी है, और अब राहुल गाँधी चीनी राजदूत से गुपचुप मुलाकात कर रहा है 

और कांग्रेस का नेता चीन की तरफ से भारत को धमकी दे रहा है 
मामला गंभीर है, और भारत के लिए खतरनाक भी, चीन और पाकिस्तान तो बाहर है पर कांग्रेस देश के अंदर है 

 राहुल गाँधी को चीनी राजदूत से मिलना भी है तो खुलेआम क्यों नहीं मिलता, गुपचुप तरीके से 
क्यों मिलता है जिसपर कांग्रेस चुप रहती है 
कांग्रेस पार्टी आखिर भारत के खिलाफ कौन सा षड्यंत्र रच रही है !

* कांग्रेस पार्टी पाकिस्तान से मदद मांग रही है मोदी को हटाने के लिए 
* भारतीय सेना को गुंडा बता रही है, देशद्रोही पत्थरबाजो को भाई बता रही है 
* कांग्रेस पार्टी आतंकी संगठन हुर्रियत के नेताओं से मुलाकातें कर रही है 
* गुपचुप तरीके से कांग्रेस का नेता राहुल गाँधी चीनी राजदूत से मिल रहा है, अभी यूरोप में न जाने किस 
पाकिस्तानी जनरल से मिलकर आया है 

नरेंद्र मोदी को हटाने के लिए कांग्रेस कुछ भी कर सकने वाली पार्टी है