कोविंद के शपथ समारोह में "जय श्री राम" के उद्घोष पर भड़की कविता कृष्णन, किया हिन्दुओ पर हमला !




रामनाथ कोविंद दलित वर्ग से निकलकर राष्ट्रपति बने है 
दलितों की बात कर राजनीती करने वाले वामपंथी रामनाथ कोविंद से चिढ़े बैठे है चूँकि ये एक ऐसे दलित है जो बीजेपी के साथ रहे है, खैर 

वामपंथी सेक्युलर और जिहादी तत्व रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति बनने से खुश नहीं है 
वैसे खुश न हो कर भी ये लोग कुछ नहीं बिगाड़ सकते, अगले 5 साल कोविंद राष्ट्रपति रहेंगे, और सेक्युलर तथा वामपंथी तत्वों को बरनोल की जरुरत बार बार पड़ती रहेगी 

हुआ ये की आज रामनाथ कोविंद का शपथ समारोह था 
इसी बीच कुछ सांसदों ने वहां जय श्री राम के नारे भी लगाए, और इसी के बाद वामपंथी तत्व भड़क गए है 
और ऐसे ही तत्वों में कविता कृष्णन भी शामिल है 

कविता कृष्णन ने जय श्री राम के नारे लगाए जाने का विरोध करते हुए हिन्दुओ पर हमला बोल दिया 
और हिन्दुओ को घसीट दिया 

देखें कविता कृष्णन का ट्वीट 



जब संसद में अल्लाह अकबर के नारे मुस्लिम और वामपंथी सांसद लगाते है तब मैडम को नहीं लगता की भारत मुस्लिम राष्ट्र बन गया 
पर जब कोई जय श्री राम का नारा लगाता है तो ये सीधे हिन्दुओ पर हमला बोल देती है, उसे हिन्दू राष्ट्र से जोड़ देती है 

साफ़ होता है की हिन्दू और भगवान् राम इन वामपंथियों को पसंद नहीं है 
और हिन्दू और भगवान् राम से इनकी नफरत का स्तर इतना बड़ा है की ये हिन्दुओ द्वारा जय श्री राम के नारे पर भी आपत्ति दर्ज करवाते है