सिर्फ घोटाले नहीं बल्कि हिन्दुओ के खात्मे का भी प्लान कर रही थी सोनिया गाँधी और उसकी कांग्रेस !


सच यही है कि 2004 से 2014 का कांग्रेस राज सिर्फ महान घोटालों का काल ही नहीं था, बल्कि कांग्रेस की पूरी तरह से राष्ट्र विरोधी नीतियों का भी सुनहरा काल था. भगवान का बहुत बहुत शुक्र है कि मोदीजी के नेतृत्व में भाजपा (NDA) की सरकार बन पाई.

फर्ज कीजिये कि 2014 में फिर से कांग्रेस की सरकार बन गई होती तो आज पूरे देश में हिन्दुओं का वही बुरा हाल होता जो ममता बनर्जी के प. बंगाल में हो रहा है.

कांग्रेस की सरकार सिर्फ देश को लूट रही थी, भ्रष्टाचार कर रही थी ऐसा बिलकुल भी नहीं था 
ये लोग हिन्दुओ को आतंकवादी साबित करने में जी जान से जुटे हुए थे, और आपको अच्छे से याद होगा की ये लोग हिन्दुओ को दंगाई घोषित करने वाला एक कानून भी ला रहे थे जिसे ये "सांप्रदायिकता विरोधी कानून" बता रहे थे 

2014 में अगर फिर कांग्रेस आ जाती हो हिन्दू का वही हाल होता जो आज पश्चिम बंगाल में ममाता राज में है 
जहाँ हिन्दू अपनी दुर्गा और सरस्वती पूजा, यहाँ तक की अपने इक्षा से अपने परिजनों का दाह संस्कार करने में भी दिक्कतें झेल रहा है 

वैसे, ज्यादा खुश न होईये, 2019 में कांग्रेस की सरकार बन जाने दीजिये, आप अपने ही देश में दूसरे दर्जे के नागरिक बन जाएंगे. और आपके ही घरों में से निकाल निकालकर आपके ही बीबी बच्चों के सामने आपको पीट पीटकर स्वर्ग (या शायद मरने के बाद 'भी' नरक ) भेजने का पूरा इंतजाम कर दिया जायेगा.
कांग्रेस देश भर में हिन्दू मुस्लिम दंगे करवाना चाहती है. 

कांग्रेस से दूर रहिये. 
देश बचाइये. 
जय हिंद.