निकली गंगा-जमुनी तहज़ीब की हवा : मुफ़्ती ने किया ऐलान, इस्लाम में सेकुलरिज्म है हराम !



निकली गंगा-जमुनी तहज़ीब की हवा : मुफ़्ती ने किया ऐलान, इस्लाम में सेकुलरिज्म है हराम ! 
जी हां, भारत में जितने भी सेक्युलर आज घूम रहे है 
इस मुफ़्ती ने उन सभी के मुँह पर जोरदार तमाचा जड़ा है 

बता दें की पिछले दिनों नितीश कुमार की पार्टी के एक विधायक ने जिसे अब मंत्री भी बनाया गया है 
खुर्शीद अहमद ने बिहार विधानसभा में जय श्री राम के नारे लगाए 
अब खुर्शीद अहमद के खिलाफ एक मुफ़्ती ने फतवा दे दिया, इस्लाम से बाहर और निकाह तोड़ने का फतवा 

अब देखिये इस मुफ़्ती का क्या कहना है इसने फतवा क्यों दिया 


कहता है की, "वह (खुर्शीद अहमद) जय श्री राम का नारा लगाता है, और कहता है की वो राम और रहीम दोनों को मानता है, इस्लाम इसे बर्दास्त नहीं करेगा, मुस्लिम सिर्फ रहीम को मान सकते है"

दूसरे शब्दों में ये मुस्लिम धर्मगुरु खुलेआम कह रहा है की जो सेक्युलर हिन्दू कहते है की एक है राम और रहीम, जो कहते है की वो राम और रहीम दोनों को मानते है 
वो ऐसा करे पर मुसलमान ऐसा नहीं कर सकता, इस्लाम में राम को मानना बर्दास्त नहीं किया जायेगा 

इस मुफ़्ती ने देश के तमाम सेकुलरों को तमाचा मारा है 
और झूठे सेकुलरिज्म की हवा निकल गयी है, असल में इस्लाम में सेकुलरिज्म हराम है, और इसी कारण सेकुलरिज्म करने पर खुर्शीद अहमद के खिलाफ इस मुस्लिम धर्मगुरु ने फतवा दे दिया