ओबामा ने कहा, "भारत से उलझकर अपनी बर्बादी को न बुलाये चीन, दुनिया भारत का ही साथ देगी"



चीन और भारत के बीच बढे तनाव के बाद अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ने चीन को सलाह दी है की दक्षिण एशिया में तनाव बढाकर चीन अपनी बर्बादी को निमंत्रण न दे 

ओबामा ने कहा की, भारत दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है 
पूरी दुनिया के देश भारत में व्यापार कर रहे है, ऐसे में अगर भारत में तनाव बढ़ता है तो सभी का नुक्सान होगा, और चीन भारत में तनाव बढ़ाता है तो दुनिया भारत के साथ खड़ी होगी और चीन अकेला होगा 

भारत की इकॉनमी बनी रहेगी पर चीन में बर्बादी आ जाएगी 
ओबामा ने कहा की ये पुराना दौर नहीं है, ये वैश्विक दौर है, वैश्विक बाजार है, और भारत आज दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है, दुनिया की इकॉनमी भारत से नियंत्रित होती है 

भारत में तनाव बढ़ने का सीधा मतलब है दुनिया भर के स्टॉक बाजार का धराशाही होना 
दुनिया के लोगों ने भारत में पैसा लगाया है वो डूबेगा तो दुनिया चीन से हिसाब लेगी, ऐसे में भारत के साथ खड़े होने वाले देश तो बहुत से होंगे, पर चीन अकेला खड़ा होगा और बर्बादी चीन के अंदर घुस जाएगी 

ओबामा ने चीन को सलाह दी की, दक्षिण एशिया में तनाव न बढ़ाये 
और भारत के साथ मैत्री सम्बन्ध बनाये चूँकि भारत अब एक महाशक्ति है और बेहतर यही होगा की तनाव को ख़त्म किया जाये 

बता दें की भारत और चीन के बीच पिछले कई दिनों से तनाव है 
जापान और अमरीका तो इसके बाद हिन्द महासागर में भारत के साथ युद्धभ्यास भी कर रहा है, दुनिया ने साफ़ कर दिया है की वो चीन नहीं भारत के साथ है