कांग्रेस का उपराष्ट्रपति उम्मीदवार : परिवारवादी साथ ही साथ आतंकियों का कट्टर समर्थक, आतंक प्रेमी



ये ऊपर जिस शख्स की तस्वीर आप देख रहे है 
इसका नाम है "गोपालकृष्ण गाँधी"

नाम में गोपाल और कृष्ण है, पर आप उसपर बिलकुल मत जाइये 
बता दें की ये शख्स मोहनदास गाँधी का पोता है, कांग्रेस ने इस शख्स को उपराष्ट्रपति पद का उमीदवार बनाया है 

यानि कांग्रेस इस शख्स को इस देश का उपराष्ट्रपति बनाना चाहती है 
चलिए आप भी देखिये की देश की सेक्युलर पार्टियां किसे इस देश का उपराष्ट्रपति बनाकर राज्यसभा का प्रमुख बना देना चाहती है 

* गोपालकृष्ण गाँधी मोहनदास गाँधी का पोता है, यानि कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने मीरा कुमार के बाद फिर एक परिवारवादी को ही चुना, मीरा कुमार पूर्व उपप्रधानमंत्री जगजीवन राम की बेटी है 
तो वहीँ गोपालकृष्ण गाँधी, मोहनदास गाँधी का पोता 

* परिवारवादी कांग्रेस का परिवारवादी राष्ट्रपति उमीदवार और परिवारवादी उपराष्ट्रपति उमीदवार 

ये तो छोटी सी बात है, अब जानिये इस महाशय के बारे में जो उपराष्ट्रपति पद की रेस में है 
ये वही गोपाल कृष्ण गाँधी है जिसने आतंकवादी याकूब मेमन के लिए सबसे पहले दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेजी थी 

जी हां कई पन्नो की लिखित दया याचिका गोपाल कृष्ण गाँधी ने याकूब मेमन के लिए लिखी थी 
गोपाल कृष्ण गाँधी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को लिखे पत्र में यहाँ तक लिखा था की, याकूब को माफ़ी एपीजे अब्दुल कलाम को श्रद्धांजलि होगी 

साथ ही साथ गोपाल कृष्ण गाँधी ने याकूब के प्रति देश के सेक्युलर खेमे में सहानुभूति जुटाने के लिए भी कार्यक्रम किये और आतंकवादी को बचाने की खूब कोशिश और मेहनत की 

एक ऐसा शख्स जो आतंकवादियों का कट्टर समर्थक है, उसे कांग्रेस पार्टी ने उपराष्ट्रपति बनाने की ठानी है