अपने ही देश में भारतीय बांग्लादेशियों से मार खा रहे है, गृहमंत्री जी तनिक उसकी भी निंदा कर ही दीजिये


हिन्दू कश्मीरी पंडित मर गए, लेकिन कश्मीरियत ज़िंदा है।
जवान शहीद हो गए, लेकिन कश्मीरियत ज़िंदा है।
रोज रोज देशद्रोह के नए नए रिकॉर्ड स्थापित हुए लेकिन कश्मीरियत जिन्दा है 
इंसानियत मिट गयी, लेकिन कश्मीरियत ज़िंदा है।

कमाल ही कर दिया गृहमंत्री जी ने, कश्मीरियत जिन्दा हैं तो अपने बच्चों को जरा कश्मीर में बिना सुरक्षा के भेजके दिखाएं 
कश्मीरियत ही जिन्दा रह जाएगी सिर्फ 

वैसे कश्मीरियत नॉएडा तक पहुँच चूका है, 200 से अधिक बांग्लादेशियों ने घरों में घुस घुस कर भारतीयों को ताबड़ तोड़ मारा और पीटा है 
अपने ही देश में भारतीय बांग्लादेशियों से मार खा रहे है, गृहमंत्री जी तनिक उसकी भी निंदा कर ही दीजिये