भारत, ताइवान वियतमान की बनेगी संयुक्त सेना, चीन के कई टुकड़े कर तीनो देश लहरायेंगे अपना झंडा



चीन के कई टुकड़े करने की दिशा में अब काम शुरू होने वाला है 
पिछले दिनों G-20 की बैठक से उलट प्रधानमंत्री मोदी ने वियतनाम के प्रधानमंत्री से भी मुलाकात की है, वहीँ भारत और ताइवान में बातचीत भी चल रही है 

वियतनाम भारत और ताइवान, इन तीनो ही देशों के खिलाफ चीन ने तनाव उत्पन्न किया हुआ है 
और इन तीनो ही क्या, जापान, साउथ कोरिया, फिलीपींस इत्यादि के साथ भी चीन के ऐसे ही तनाव है 

ऐसा कोई देश नहीं जिसके चीन से सम्बन्ध अच्छे हो 
भारत वियतनाम और ताइवान के बीच एक संयुक्त सेना का भी निर्माण किया जा सकता है, जिसपर तीनो ही देशों की आपसी चर्चा चल रही है 

ये संयुक्त सेना चीन के खिलाफ बनाई जाएगी, जिस तरह NATO की सेनाएं साथ काम करती है 
चीन के खिलाफ भारत ताइवान और वियतनाम की सेनाएं काम करेंगी 

वियतनाम की राष्ट्रपति पहले ही कह चुकी है की 
बीजिंग में हमारा झंडा गड़ेगा, वहीँ भारत तिब्बत को स्वतंत्र करवाना चाहता है, इसके साथ साथ वियतनाम भी चीन के कुछ इलाकों पर अपना दावा ठोंकता है 

भारत इन दोनों ही देशों, वियतनाम और ताइवान 
दोनों को जल्द ही ब्रह्मोस मिसाइल सिस्टम भी दे सकता है, जो की चीन के खिलाफ इस्तेमाल किये जायेंगे 
जल्द ही इसी मसले को लेकर तीनो ही देशों के सैन्य अधिकारीयों की भी मीटिंग हो सकती है