कोई भी नेता नहीं कर पा रहा मोदी का मुकाबला, जो मोदी ने अपने देश के लिए किया, कोई मिसाल नहीं !


चीन को पछाड़कर भारत वैश्विक आर्थिक विकास की नई धुरी के तौर पर पर उभर चुका है और उम्मीद है कि आने वाले दस सालों से ज्यादा समय तक वह अपनी इस स्थिति को बरकरार रखेगा। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की एक नई स्टडी में यह खुलासा हुआ है।

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर इंटरनैशल डिवेलपमेंट (CID) ने 2025 तक सबसे तेजी से विकास करने वाली अर्थव्यव्यस्थाओं की लिस्ट में भारत को सबसे ऊपर रखा है। CID का अनुमान है कि इस दौरान भारत की अर्थव्यवस्था औसतन 7.7 प्रतिशत के हिसाब से विकास करेगी। 

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व को भारत के विकास का मूल कारण बताया है 
दुनिया का कोई भी नेता प्रधानमंत्री मोदी का मुकाबला करने की स्तिथि में नहीं है 

दुनिया के कुछ बड़े देश इस प्रकार है 
अमरीका, रूस, चीन, भारत, जापान, फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन 

अमरीका में ट्रम्प है, चीन में जिनपिंग है, रूस में पुतिन है, जापान में शिंज़ो आबे है, फ्रांस में एम्मानुएल मैक्रॉन है, ब्रिटेन में थेरेसा मे है, जर्मनी में मर्केल है 

जो मोदी ने भारत के लिए किया है, ऐसा कोई भी बड़ा नेता अपने देश के  लिए नहीं कर सका है 

चीन का विकास हर साल घट रहा है, अमरीका, रूस जर्मनी ब्रिटैन, फ्रांस और जापान इत्यादि इन सभी की जीडीपी रफ़्तार 2-3% के बीच है 

वहीँ चीन की 6% के पास, वहीँ भारत की 7% से अधिक, और नोटेबंदी और GST के बाद  हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने ही 7.7% के आंकड़े दिए है 

मोदी का मुकाबला कोई भी नेता नहीं कर पा रहा है, बेशक ग्लोबल लीडर बन चुके है मोदी 
और मोदी के सामने कोई टिकने तक की स्तिथि में नहीं है