चीन तनाव न बढ़ाये, परमाणु स्तर तक जायेगा युद्ध, जिसमे बर्बादी चीन की, हम भारत के साथ : पुतिन


आर्मी पावर की बात करें तो चीन भारत से मजबूत है। लेकिन इतना भी नहीं कि भारत को आसानी से मात दे सके। इन दिनों दोनों देशों के बीच हालात काफी नाजुक हो गए हैं।

दोनों देशों के बीच जुबानी जुंग तो काफी पहले से ही शुरू हो गई है। लेकिन हथियार अभी डब्बों में पैक ही है। चीन भारत को इसलिए आंख दिखाता है क्योंकि उसने 1962 में भारत को हराया था। लेकिन भारत का कहना है कि अब 1962 वाला भारत नहीं रहा। हालात बदल चुके हैं।

इतना ही नहीं कुछ दिन पहले रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने भी भारत का साथ दिया था। उन्होंने अपने भारत चीन विवाद पर कहा था कि अगर दोनों देशों का युद्ध होता है तो इससे चीन की बर्बादी होगी। क्योंकि भारत की ताकत का आंकलन करना आसान नहीं।

भले ही चीन की आर्मी के सामने भारत की सेना हल्की नजर आती है लेकिन कई मामलों में भारत आगे है। चीन के पास भले ही सबसे पावरफुल आर्मी है लेकिन भारत के पास दूसरे देशों का सहयोग है। सोशल मीडिया पर भी जब भारत-चीन आर्मी के बीच तुलना की तो, लोगों ने कई बातों पर प्रकाश डाला जो गौर करने वाली चीज है।

पोस्ट पर एक शख्स ने लिखा कि चीन अंतराष्ट्रीय स्तर पर दूसरे देशों के साथ संबंध बनाने में भारत से बहुत पीछे है। कई ऐसे देश हैं जो युद्ध के दौरान भारत का साथ देंगे। जिसमें अमेरिका, इजराइल, वियतनाम और जापान जैसे देश हैं। क्योंकि इस देशों से भारत के संबंध बहुत अच्छे हैं।

वहीं दूसरे शख्स ने पीएम मोदी की विदेश नीति पर जोर डाला। उन्होंने बताया कि पीएम पाकिस्तान और चीन को अलग थलग करना चाहते हैं इसलिए वो ताबड़तोड़ विदेश यात्राएं कर रहे हैं और इसके लिए उनको कामयाबी भी मिली है। अभि ने भारत को सपोर्ट करने वाले देशों के स्टेटमेंट्स को बताया। जिसमें वो हर तरह से भारत के साथ होने की बात कर रहे हैं।

लोगों का कहना है कि चीन ने अपने पड़ोसी देशों से संबंध बिगाड़े हैं जो पूरी तरह भारत का साथ दे रहे हैं। सही भी है, चीन के संबंध जापान, साउथ कोरिया, ताइवान और फिलिपिंस से बहुत खराब है। वहीं इस देशों के साथ भारत के संबंध अच्छे हैं। ऐसे में भारत को कम समझना चीन की बड़ी भूल हो सकती है।

सोशल मीडिया पर लोग लिखते हैं कि चीन ने एक जंग लड़ी है। जबकी भारत ने कई बार युद्ध में पाकिस्तान के दांत खट्टे किए हैं। एक बात ये भी है कि पाकिस्तान चीन से हथियार लेता है और युद्ध के दौरान उसका ही इस्तेमाल करता है। भारत के साथ युद्ध में पाकिस्तान ने इनका इस्तेमाल किया था। जिसका भारत ने मुंहतोड़ जवाब दिया था।

कुल मिलाकर चीन की आर्मी पावरफुल हो लेकिन संबंध बनाने के मामले में भारत आगे है। कई देश भारत को पूरी तरह से मदद करने को तैयार हैं। यहां तक की चीन के पड़ोसी देश भी। ऐसे में चीन भारत को कम समझने की गलती नहीं कर सकता।