इशरत जहाँ, लश्कर और कांग्रेस का कनेक्शन, कांग्रेस के इशारे पर लश्कर ने हटाई इशरत जहाँ.....



सीधे संजय द्विवेदी जी के वाल से 

इशरत जहाँ के मामले मे कांग्रेस की मूल योजना मोदी की हत्या करवाने की थी। 

लेकिन जब सुपारी किलर इशरत जहाँ के साथ ही टपका दिए गए तो कांग्रेस ने प्लान बी पर का शुरू किया । अब शाह को तोड़कर , मोदी को जेल भेजकर , जेल मे ही मोदी पर हमला करवाने का प्लान था। यदि आप उस समय के षड्यंत्रों की कडियो को आज जोडे तो यही तस्वीर उभर कर आएगी।।

वरना कांग्रेस किसी अन्य व्यक्ति के पीछे इतनी शिद्दत से नही पडी जैसे न्यायपालिका, जज, एन जी ओ, लेखक, पुलिस के उच्च अधिकारियों को लेकर मोदी के पीछे पड़ी थी। ये तीस्ता, ये राना अय्यूब, जावेद आनन्द, आदि इसी काल की उपज हैं वरना इन्हे कोई नहीं पूछता था।
मोदी को मरवाने का षड्यंत्र कांग्रेस ने लश्करे तैयबा के साथ समन्वय बना कर किया था। असली कर्णधार तो खैर ISI ही थी।

हुआ यह कि लश्कर की वेबसाइट पर इशरत जहाँ को शहीदों मे जगह दी गई थी। लेकिन भारत में कांग्रेस और अन्य मोदी विरोधी तत्व इशरत जहाँ को एक निर्दोष मुस्लिम महिला बता रहे थे 

लेकिन जैसे ही चिदंबरम तथा कांग्रेस पार्टी की नजर मे लश्करे तैयबा की वेबसाइट आई तो उन्होंने रायता फैलने के डर से तुरन्त पाकिस्तान सन्देश भेजा। और, दूसरे ही दिन इशरत का नाम शहीदो के स्तम्भ से गायब कर दिया गया।

इतना अच्छा तालमेल था सोनिया चिदम्बरम और लश्करे तैयबा जैसे आतंकवादी संगठन के बीच।