जुनैद की हत्या के बाद खून खौल गया, अमरनाथ यात्रियों की हत्या के बाद खून जम तो नहीं गया ?



आपको याद होगा की पिछले दिनों सीट को लेकर हुए विवाद के बाद जुनैद नाम के मुस्लिम लड़के की लड़ाई के दौरान मौत हो गयी, और उसके बाद NDTV, इंडियन एक्सप्रेस, टाइम्स ऑफ़ इंडिया, हिंदुस्तान टाइम्स, ABP, आजतक जैसे मीडिया एजेंसियों ने इसे "गौमांस" से जोड़ दिया 

और उसके बाद फिर क्या था, हिन्दुओ को आतंकवादी बताकर जुनैद की हत्या को मुसलमानो पर अत्याचार बता दिया गया, 1 अवार्ड भी शबनम हाश्मी नाम की मुस्लिम बुद्धिजीवी ने लौटा दिया 
जो उसे कांग्रेस की सरकार ने दिया था, खैर 

जुनैद की सीट को लेकर हुई हत्या के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय पुत्री प्रियंका वाड्रा ने भी बयान दिया था और कहा था की, "गौरक्षको द्वारा  की जा रही हत्याओं पर मेरा तो खून खौल जाता है"

चलिए ये पुरानी बात हो गयी 
कल अमरनाथ यात्रा पर गए हिन्दू तीर्थ यात्रियों पर 4 इस्लामिक आतंकियों, जिनका आका था मोहम्मद इस्माइल, उन्होंने 10 हिन्दू तीर्थ यात्रियों की हत्या कर दी, मृतकों के आंकड़े और बढ़ सकते है 

पहले 2, फिर 6, फिर 7, फिर 8 और अबतक 10 हिन्दू तीर्थ यात्रियों की मौत हो गयी 
प्रियंका वाड्रा का खून खौलने जैसी कोई खबर तो अबतक आयी नहीं 
न उनके पति रोबर्ट वाड्रा का कोई खून खौला, अजीब सी स्तिथि है, 1 जुनैद के हत्या के बाद जिस प्रियंका वाड्रा का खून खौल गया था, 10 हिन्दू तीर्थ यात्रियों की हत्या के बाद  उनका खून कहीं जम तो नहीं गया 
जो उनकी जबान से 1 शब्द नहीं निकल पाए अबतक 

या ऐसा तो नहीं की कांग्रेस पार्टी और प्रियंका वाड्रा के लिए जुनैद का खून तो खून है, पर हिन्दू तीर्थ यात्रियों का खून  समुन्द्र का पानी है, जिसे जितना बहाओ किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता !!