पाक के पूर्व मेजर ने पाक आर्मी को बताया कायर, कहा "बच्चों पर फायरिंग कर रही हमारी कायर फ़ौज"


पाकिस्तान के एक रिटायर्ट मेजर ने पाकिस्तान की आर्मी को लताड़ा है। उन्होंने पाक सेना को जुल्मी बताया है।
पाकिस्तान की आर्मी में मेजर रहे दिलशाद खान ने कहा है कि कल पाकिस्तान की आर्मी ने भारत के कश्मीर में स्कूलों पर फायरिंग की। ये पाकिस्तानी फौज की कायराना हरकत है। बच्चों को क्यों निशाना बनाया गया। हिम्मत है तो भारत की फौज से लड़ो। बच्चों को निशाना बनाने वालों को अल्लाह भी माफ नहीं करता। 

खान ने कहा कि बॉर्डर पर लड़ना अलग बात है लेकिन आम नागरिकों को निशाना बनाना कायरता है। उन्होंने कहा कि अगर भारत की फौज ने पाकिस्तानी गांवों को निशाना बनाना शुरू कर दिया तो अल्लाह भी हमें नहीं बचा पाएगा। 

बता दें कि जम्मू कश्मीर में भारतीय सैन्य चौकियों और रिहायशी क्षेत्रों को लगातार निशाना बना रही पाकिस्तानी सेना ने मंगलवार को दुस्साहस की हद पार करते हुए राजौरी के सीमांत क्षेत्रों में स्थित स्कूलों पर जमकर मोर्टार दागे। तीन स्कूलों को निशाना बनाकर की गई गोलाबारी के बीच सेना, पुलिस और प्रशासन ने बुलेटप्रूफ वाहनों में 217 बच्चों और 15 शिक्षकों को सुरक्षित निकाला।

इस बीच गोलाबारी में दो सैनिक शहीद व छह घायल हो गए। तीन नागरिक भी घायल हुए हैं। भारत ने भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। पाकिस्तान ने आरोप लगाते हुए कहा है कि भारतीय सेना की गोलाबारी में उसके दो नागरिक मारे गए हैं, जबकि छह घायल हुए हैं।

पाक गोलाबारी को देखते हुए प्रशासन ने नौशहरा व मंजाकोट शिक्षा जोन के सभी निजी व सरकारी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है।

  जुलाई में अब तक छह और तीन माह में 11 जवान शहीद हो चुके हैं। मंगलवार सुबह करीब छह बजे पाक सेना ने राजौरी व पुंछ दोनों सेक्टरों में भारी गोलाबारी शुरू कर दी। नौशेरा में बंकर पर मोर्टार गिरने से एक जवान शहीद हो गया और पांच जवान घायल हुए हैं।