वंदे मातरम अनिवार्य करना सरासर गलत है, मोदी सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है : शशि थरूर


आए दिन विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले कांग्रेस सासंद एक बार फिर सुखियों में आए। यह और कोई मंत्री नही बल्कि शशि थरूर है, जो अक्सर विवादित बयान देते है। शशि थरूर का यह बयान मद्रास हाई कोर्ट द्वारा तमिलनाडु के स्कूलों, कॉलेजों और दफ्तरों में राष्ट्रगीत गाना अनिवार्य किए जाने पर आया है। 

शशि थरूर का कहना है कि मोदी सरकार फासीवादी है और लोकतंत्र की हत्या की जा रही है । शशि थरूर ने आगे कहा कि वंदे मातरम क्या लोगों पर जबरन थोपोगे, जो लोग नहीं गाना चाहते वंदे मातरम ये उनका लोकतान्त्रिक हक़ है, वंदे मातरम को अनिवार्य करना सरासर गलत है 

बता दें कि इसे पहले शशि थरूर ने राज्य के लिए अलग झंडे की मांग को लेकर समर्थन किया था। बेंगलुरु में आयोजित एक कार्यक्रम में थरूर ने कहा कि देश के हर राज्य के पास अपना झंडा होना चाहिए, झंडे को राज्य के पहचान का प्रतीक बताया।

थरूर ने कहा कि राज्य के लिए अलग झंडे का कदम एक अच्छी पहल होगी, बशर्ते कि यह देश में अलगाव का प्रतीक न बने। अगर राज्य का झंडा राज्य से जुड़ाव का प्रतीक है तो देश के सभी राज्यों के पास अपना झंडा होना चाहिए।