50 हज़ार से 1 लाख लेकर, गौरक्षको की नकली खबर प्लांट कर हिन्दुओ को आतंकी बता रही मीडिया !


आपने अक्सर सुना होगा 
मनचलों की भीड़ ने की पिटाई, भीड़ के हत्थे चढ़े 2 चोर, बाजार में चैन और पर्स छीनने वाले बदमाशों को लोगों ने पीटा 

आप ने कई बार ये खबरे सुनी होंगी, और यकीन मानिये ये भी लिंचिंग ही है, पर मीडिया ने कभी इसपर शोर नहीं मचाया 
पर गौरक्षकों द्वारा हिंसा की खबरों को मीडिया प्रमुखता से दिखाती है, एजेंडा चलाती है 

गौरक्षको की गुंडागर्दी की फर्जी खबर चलाकर मीडिया और मीडिया के पीछे बहुत से लोग हिन्दुओ को आतंकी साबित करने में लगे हुए है 
और कई सालों से ये काम किया जा रहा है 

आप समझने की कोशिश कीजिये, कैसे हिन्दुओ को आतंकी बताने के लिए गौरक्षको की खबरों को प्लांट करती है मीडिया और उसके पीछे के लोग 

.....हैलो,
....हुक्म जनाब,

....मुजाहिद से कहना कि वह नागपुर कै आले चौक से ठीक शाम चार बजे स्कूटर की डिक्की में 5किलो मटन लेकर गुजरे।
.....जी जनाबेआला,

.....और दस जने तुमलोग वहां पहले से रहना और गौरक्षकोंं को फोन पर खबर कर देना की आले चौक से चार बजे ठीक स्कूटर नं..787 से एक बंदा बीफ लेकर गुजरेगा...गौ मांस।
.....जी,जनाब,

.....मुजाहिद् को थोड़ा पिटने देना,फिर बीच बचाव करना कि मर न जाये।पुलिस को उसी समय फोन कर देना जब मुजाहिद आले चौक पर आता दीखे।
....जी जनाब,

....मीडिया को खबर पहले से किये रखना कि एक सेकुलर खबर है, एनडीटीवी, ABP न्यूज़ और आजतक वालो को जरूर बुलाना।
......जी जनाब,

.....तुम्हारे एकाउंट में तेरह लाख ट्रांसफर कर दिया है,पचास पचास हजार दो मीडिया कर्मियों को देना,तुम दस जने एक एक लाख लेना,मुजाहिद को दो लाख देना।सारे काम ऐतिहात से करना।
.....जी जनाब,

....ऑपरेशन कायदे से होने पर खबर करना तुम्हें एक लाख और मिलेंगे।
....जी जनाब,और कुछ?

........
बिलकुल इसी तरह मीडिया और उसके पीछे के लोग मिल जुलकर हिन्दुओ को आतंकी साबित करने में लगे हुए है 
हिन्दुओ के खिलाफ रोज खबर प्लांट की जाती है, और फिर उसपर घंटों डिबेट चलाकर मीडिया हिन्दुओ को आतंकी साबित करने की कोशिश करती है 

और आप यकीन मानिये ये बहुत खतरनाक है, चूँकि बार बार मीडिया हिन्दू को आतंकी आतंकी बता रही है 
बार बार झूठ बोलने से वो कई दिनों बाद सच लगने लगता है, मीडिया भी इसी स्ट्रेटेजी पर चल रही है, बार बार हिन्दू को आतंकी बताओ, एक दिन हिन्दू 
आतंकी कहलाने ही लग जायेगा