47 साल में ये खानदान अच्छे दिन नहीं ला पाया, पर मोदी से ये 3 साल पूछते है "अच्छे दिन कहाँ है" !



नरेंद्र मोदी सरकार के बने हुए अभी 3 साल ही हुए है 
की कांग्रेस और उसके नेता कोई मुद्दा नहीं होता तो पूछते है की, अच्छे दिन तो आये नहीं 

इन भ्रष्टाचारियों के अच्छे दिन कभी आएंगे भी नहीं 
क्यूंकि इनके ऊपर तमाम मामले जो चल रहे है, इनके बुरे ही दिन आएंगे 

गरीबों के घरों में शौचालय बने, सिलिंडर मिला कई तरह के काम हुए, जिन गाँव में कभी बिजली नहीं पहुंची वहां भी बिजली पहुँच गयी 
केंद्र में एक ऐसी सरकार है, 3 साल हो गए कोई भ्रष्टाचार नहीं, पिछली सरकार में हर हफ्ते एक घोटाले की खबर पढ़ने के लिए लोग आदि हो चुके थे,  अच्छे दिन चोरो और लुटेरों और इस देश के दुश्मनो को दिखाई भी नहीं देने वाले, खैर 

जो लोग मोदी सरकार पर 3 साल में अच्छे दिन न ला पाने का ताना मारते है 
वो लोग जरा इन आंकड़ों पर भी नजर डालें 

* जवाहर लाल नेहरू - ये शख्स भारत का प्रधानमंत्री रहा 16 साल 286 दिन
* इंदिरा नेहरू/खान/गाँधी - ये प्रधानमंत्री रही 15 साल 91 दिन 
* राजीव खान/गाँधी - ये शख्स 5 साल और 32 दिन तक प्रधानमंत्री रहा 
* सोनिया गाँधी - ये खुद तो PM नहीं थी, पर सरकार की करता धर्ता यही रही - 10 साल और 4 दिन 

कुल मिलाकर कांग्रेस के इस खानदान के लोग सीधे तौर पर देश के शासक रहे 
47 साल और 48 दिन 

47 साल और 48 दिन ने ये लोग अच्छे दिन नहीं ला सके, पर नरेंद्र मोदी 3 सालों में भारत को अमरीका से आगे क्यों नहीं ले जा पाए इस बात का ताना ये 47 साल और 48 दिन वाले लोग मारते है 
निम्न स्तर की राजनीती की भी कोई लिमिट होती है