ब्रेकिंग : पाकिस्तानी फायरिंग में 2 ईरानियों की मौत, ईरान ने कहा, "24 घंटे में 2000 पाकिस्तानी मारेंगे"



PAK सेना की एक और करतूत पूरे पाकिस्तान पर भारी पड़ने वाली है। ईरान ने पाकिस्तान को कब्रिस्तान बना देने की धमकी दे डाली है।

दरअसल पाकिस्तान की सीमा ईरान से भी मिलती है। और आज PAK आर्मी ने ईरान बॉर्डर पर बिना वजह फायरिंग की जिससे ईरान के दो नागरिकों की मौत हो गई। इसके बाद ईरान गुस्से से लाल हो गया है। 

ईरान ने पाकिस्तान को धमकाते हुए कहा है कि 24 घंटे में पाकिस्तान को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। वहीं, पाकिस्तानी वायुसेना के एक ईरानी जासूसी ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद चीन के एक विशेषज्ञ ने कहा है कि भारत चीन—पाकिस्तान आथर्कि गलियारे का हव्वा खड़ा करके के ईरान और इस्लामाबाद के बीच दरार पैदा नहीं कर सकता है। बीते 19 जून को एक ईरानी ड्रोन को पाकिस्तानी वायुसेना के जेएफ—17 थंडर जेट ने मार गिराया था। यह जेट चीन निर्मित है।

पाकिस्तानी विदेश विभाग ने मीडिया को बताया कि ईरानी ड्रोन जासूसी मिशन पर था और पाकिस्तान की हवाई सीमा में बहुत अंदर तक आ गया था। इसके बाद उसे मार गिराया गया।

ईरान और पाकिस्तान के बीच संबंधों के तनाव के बारे में चीन चिंतित है क्योंकि उसे लगता है कि इससे सीईपीसी पर असर पड़ेगा। सीपीईसी परियोजना चीन के शिनजियांग को पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह को जोड़ेगी। ग्वादर ईरानी सीमा के निकट है। 

बहरहाल, एक चीनी विशेषज्ञ ने इस बात पर जोर दिया कि ईरानी ड्रोन को मार गिराने से दोनों देशों का संबंध प्रभावित नहीं होगा।

ईरान में चीन के राजदूत रह चुके हुआ लिमिंग ने कहा, भारत 50 अरब डॉलर की सीपीईसी परियोजना का हव्वा खड़ा करके ईरान और पाकिस्तान के बीच दरार पैदा करने में सफल नहीं होगा।

 हुआ ने कहा कि ईरान और पाकिस्तान पड़ोसी देश हैं और उनके संबंधों में बहुत सारी समस्याएं नहीं रही हैं, लेकिन भारत ईरान को यह मनवाने का प्रयास कर रहा है कि सीपीईसी और खासकर ग्वादर बंदरगाह के निर्माण से उसके हितों को नुकसान पहुंचेगा।