अमरीकी जनरल का बयान, "ट्रम्प के एक इशारे पर 1 घंटे में गिरा दूंगा चीन पर परमाणु बम "


अमेरिकी कमांडर ने चीन पर न्यूक्लियर बम गिराने की धमकी दी है। यूएस पेसिफिक फ्लीट के कमांडर ने गुरुवार को कहा कि वह चीन के खिलाफ अगले हफ्ते परमाणु हमला कर सकते हैं अगर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उन्हें आदेश देते हैं।

अमेरिका की तरफ से एक बड़े कमांडर का इस तरह का बयान आना कोई छोटी बात नहीं है.एक तरफ भारत और चीन में विवाद चला हुआ है और दूसरी और अमेरिका ने भी चीन को आँखे दिखाना शुरू कर दिया है.अमेरिका और चीन के बीच कितना तनाव है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अमेरिका पहले ही चीन को धमकी दे चूका था की भारत के खिलाफ युद्ध की कोशिश की तो अमेरिका चुप नही बैठने वाला और अब ऊपर से ये बड़ा बयान.


अमेरिका के कमांडर स्विफ्ट ने आगे अपनी बात रखते हुए कहा, “अमेरिकी सेना के हर सदस्य को यूनाइडेट स्टेट के संविधान की सभी घरेलू और विदेश दुश्मनों से रक्षा करने की शपथ दिलाई जाती है और अधिकारियों तथा अमेरिका के राष्ट्रपति के आदेश का पालन करना हमें बताया जाता है।

अमेरिका और भारत की दोस्ती अब रंग दिखा रही है अमेरिका चीन पर सीधे तौर पर दबाव डालने लगा है.चीन छोटा देश नहीं है और ना ही उसकी सैन्य ताकत कम है लेकिन फिर भी ऐसा बयान अमेरिका से आना चीन के लिए बहुत बड़ा है.

अभी कल ही अमेरिका की तरफ से मांग उठी थी की चीन को दबाने के लिए भारत की मदद करे अमेरिका और भारतीय नेवी को सिधे-सीधे परमाणु हथियार दे.आज अमेरिका चीन के खिलाफ इसलिए सख्त रुख अपनाये हुए है क्योंकि चीन दुनिया में अपना रुतवा कायम करना चाहता है इस समय चीन ने कई देशों से दुश्मनी मौल रखी है.

अभी हाल ही में अमेरिका और आस्ट्रेलिया ने चीन को धमकाते हुए बोला है चीन को अपनी हरकतों से बाज आना चाहिए अमेरिका ने आगे बोलते हुए कहा कि सिक्किम क्षेत्र में बीजिंग के व्यवहार से इस क्षेत्र के देशों में अशांति पैदा हो सकती है.चीन को एक अहम ताकत के रूप में भारत का सम्मान करना चाहिए .


चीन ने सोचा नहीं तह इस तरह से अमेरिका भारत के पक्ष में खड़ा हो जाएगा.अब चीन को लेकर परमाणु बम की सीधी धमकी अमेरिका से आई है चीन बौखला कर अब क्या करता है देखने लायक होगा !